बांगड़ चिकित्सालय में एक करोड़ की लागत से बनेगा नया ऑक्सीजन प्लांट

90 सिलेण्डर के प्लांट के लिए हो गए टेंडर
प्लांट लगने पर पाली में बन सकेगी 180 सिलेण्डर ऑक्सीजन रोजाना

By: Rajeev

Published: 30 Apr 2021, 12:36 PM IST

पाली. कोविड 19 की दूसरी लहर में अस्पताल आने वाले हर मरीज को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है। प्रदेश में कई जगह पर ऑक्सीजन की कमी के कारण मरीजों की जान पर बन रही है। वहीं पाली अभी तक ऑक्सीजन देने में पूरी तरह सफल रहा है। इसका कारण रहा है यहां लगा 90 सिलेण्डर ऑक्सीजन जनरेट करने का प्लांट और सिलेण्डरों की निर्बाध आपूर्ति। अब यह व्यवस्था और मजबूत होने जा रही है। पाली के बांगड़ चिकित्सालय में एक करोड़ रुपए की लागत से 90 सिलेण्डर का नया ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए जयपुर से वर्क ऑर्डर जारी हो गए है। अब मेडिकल कॉलेज की तरफ से बांगड़ चिकित्सालय परिसर में भूमि चिह्नित करनी है। इसके बाद वहां पर निर्माण एजेंसी की तरफ कार्य शुरू कर दिया जाएगा।
45 दिन का मांगा समय

बांगड़ चिकित्सालय परिसर में नया ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए वर्क ऑर्डर प्राप्त करने वाली कम्पनी ने 45 दिन का समय मांगा है, लेकिन मेडिकल कॉलेज व चिकित्सा विभाग इतना समय देने को तैयार नहीं है। उन्होंने कम्पनी को कोविड के हालात का हवाला देते हुए यह कार्य 30 दिन में पूरा करने को कहा है।
इस तरह बनेगी ऑक्सीजन

इस प्लांट में कुछ मशीने लगाई जाएगी। जिनमे एक विशेष प्रकार का कैमिकल डाला जाएगा। मशीनों के बिजली से चलने पर वे हवा खींचेगी और कैमिकल के माध्यम से उसमें मिली ऑक्सीजन को अलग करेंगी। जिसे पाइप लाइन के माध्यम से अस्पतालों के वार्डों तक पहुंचाया जाएगा।
इधर, कंसंट्रेटर भी हवा से निकालेगा ऑक्सीजन

इधर, सांसद पीपी चौधरी की ओर से दिए गए 50 लाख रुपए से 50 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और 100 खाली ऑक्सीजन गैस सिलेण्डर खरीदे जाएंगे। मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल ने इसकी खरीद प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। कंसंट्रेटर मशीन से निकलने वाले नोजल को मरीज के मुंह व नाक पर लगा दिया जाएगा। मशीन शुरू करने के बाद वह हवा को खींचेगी और उससे ऑक्सीजन अलग कर मरीज तक पहुंचाएंगी। इसमें सिलेण्डर लाने या पाइप लाइन बिछाने की जरूरत नहीं है। ऐसे में जिले के उन चिकित्सालय में भी ऑक्सीजन मिल सकेगी। जहां पर ऑक्सीजन अभी उपलब्ध नहीं है।
मास्क व नोजल भी खरीदेंगे

सिलेण्डरों व कसेंटेटर मशीनों के साथ मास्क और नोजल भी खरीदे जाएंगे। नोजल इस तरह के होंगे कि एक सिलेण्डर पर लगाने से दो मरीजों को ऑक्सीजन दी जा सके। मास्क भी उच्च गुणवत्ता के लेंगे। जिससे मरीज को किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।

राज्य सरकार दे रही 100 कंसंट्रेटर
राज्य सरकार की ओर से भी कोविड मरीजों के लिए पाली को 100 कंसंट्रेटर दिए जाने का रास्ता साफ हो गया है। ये कंसंट्रेटर तो एक सप्ताह में ही पाली पहुंचने की संभावना है। इनके आने पर बांगड़ चिकित्सालय के अलावा कोविड केयर सेंटरों व कस्बों के अस्पतालों में भी ऑक्सीजन की सुविधा दी जा सकेगी।

स्वीकृति करवा दी जारी

इस समय कोविड के मरीजों को ऑक्सीजन की बहुत जरूरत है। इस कारण तुरन्त मेडिकल कॉलेज प्रिंसिपल को खरीद प्रक्रिया के लिए अधिकार दिए है। जिससे जल्दी से जल्दी मशीने व सिलेण्डर आ सके।

पीपी चौधरी, सांसद, पाली

पूरी कर ली तैयार

बांगड़ चिकित्सालय में नया ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए जयपुर से वर्क ऑर्डर हो गए है। हमने कम्पनी को 30 दिन में प्लांट लगाने को कहा है। सांसद की ओर से दी गई राशि से कंसंट्रेटर खरीद की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। इन कंसंट्रेटर की क्षमता 10 लीटर की रहेगी। जयपुर से भी 100 कंसंट्रेटर की स्वीकृति मिली है।

डॉ. केसी अग्रवाल, प्रिंसिपल, मेडिकल कॉलेज, पाली

Rajeev Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned