सर! हमने फीस तो पूरी भरी है, फिर हमें परीक्षा में क्यों नहीं बैठने दिया जा रहा...यहां पढ़े क्या है मामला

Avinash Kewaliya

Publish: Feb, 15 2018 01:13:02 PM (IST) | Updated: Feb, 15 2018 01:13:03 PM (IST)

Pali, Rajasthan, India
सर! हमने फीस तो पूरी भरी है, फिर हमें परीक्षा में क्यों नहीं बैठने दिया जा रहा...यहां पढ़े क्या है मामला

- नर्सिंग द्वितीय वर्ष के 20 विद्यार्थियों को नहीं शामिल होने दिया परीक्षा में - निजी नर्सिंग सेंटर द्वारा परीक्षा फॉर्म जमा नहीं करवाने से जारी नहीं

पाली. सर! हमने फीस तो पूरी भरी है और समय पर परीक्षा फार्म भी भर दिया था। फिर भी हमें परीक्षा में क्यों नहीं बैठने दिया जा रहा है। पूरा साल खराब हो जाएगा। बुधवार को कुछ ऐसे ही रुंआसे होकर नर्सिंग द्वितीय वर्ष के विद्यार्थी परीक्षा ड्यूटी में तैनात अधिकारियों के सामने गिड़गिड़ाते रहे। लेकिन, उन्हें परीक्षा में शामिल नहीं होने दिया गया।

हुआ यूं कि बुधवार को नर्सिंग द्वितीय वर्ष के फाइनल पेपर हुए। लेकिन, शहर में संचालित करणी कृपा नर्सिंग स्कूल के 20 विद्यार्थियों को इस परीक्षा में शामिल होने से रोक दिया गया। इस पर विद्यार्थी विरोध करने लगे, लेकिन अधिकारियों ने विद्यार्थियों के रोल नंबर व प्रवेश पत्र जारी नहीं होने की बात कही। करीब दो घंटे तक सभी 20 विद्यार्थी परीक्षा केंद्र के बाहर इसी आस में बैठे रहे कि उन्हें कोई परीक्षा में शामिल होने देगा। लेकिन, विद्यार्थियों को मायूस ही लौटना पड़ा।

निदेशालय नहीं पहुंचे परीक्षा फॉर्म

विद्यार्थियों की मानें तो उनके सेंटर से उनके परीक्षा फार्म अंतिम तिथि से पहले निदेशालय में नहीं भेजे गए, जिससे निदेशालय ने उनके रोल नंबर भी जारी नहीं किए। इधर, कॉलेज संचालक ने विद्यार्थियों को कोर्ट की शरण लेकर परीक्षा दिलवाने का आश्वासन देकर अपना पल्ला झाड़ दिया।

कोर्ट की शरण लेंगे

मैंने सभी विद्यार्थियों के परीक्षा फार्म आरएनसी में भिजवा दिए थे। लेकिन, उनके प्रवेश पत्र वहां से जारी नहीं हो पाए। सेंटर की ओर से कोर्ट की शरण लेकर आगे की परीक्षा दिलवाने की कोशिश की जा रही है।

- जेठाराम, संचालक, करणी कृपा नर्सिंग स्कूल, पाली

बच्चे का पूरा साल खराब हो गया

- नर्सिंग स्कूल संचालक की लापरवाहीं के चलते हमारे बच्चों का एक साल खराब हो गया। हमारे बच्चों ने फीस भरवाने के साथ ही समय पर सभी फार्म भर दिए थे। परीक्षा शुरू होने तक भी हमें सही जवाब नहीं मिला और हमारे बच्चे परीक्षा केंद्र के बाहर इंतजार करते रह गए।

- विरमदेव, अभिभावक

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned