सूचना चाहिए तो पहले जमा करवाओ एक करोड़ रुपए

- उप पंजीयन कार्यालय रोहट से आवदेक ने आरटीआई के तहत मांगी सूचना
- उप पंजीयन कार्यालय रोहट ने पत्र जारी कर सूचना देने का खर्च बताया एक करोड़ 14 लाख रुपए

By: Suresh Hemnani

Published: 19 Mar 2021, 03:53 PM IST

पाली। उप पंजीयन कार्यालय रोहट से एक आरटीआई कार्यकर्ता को सूचना मांगना काफी महंगा पड़ता नजर आ रहा हैं। उन्होंने जो सूचना चाही हैं। उसके बदलते उप पंजीयन कार्यालय ने एक करोड़ 14 लाख 55 हजार 830 रुपए का खर्च बताते हुए उक्त राशि जमा करवाने के पत्र लिखा हैं। ऐसे में अब आवेदक का कहना हैं कि वह बीपीएल वर्ग से है। सूचना निशुल्क मिलनी चाहिए। इतनी बड़ी राशि जमा नहीं करवा सकता। वही मामले में कार्यवाहक रोहट तहसीलदार का कहना हैं कि उन्होंने नियमों के तहत जो दस्तावेजों की सूचना आवेदक को देनी है। उसका खर्च बताया हैं जो सही हैं।

रोहट क्षेत्र के चोटिला गांव निवासी आरटीआई कार्यकर्ता ओमाराम बंजारा पुत्र मंगलाराम बंजारा ने सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 के तहत 18 फरवरी 2021 को आवेदन पेश किया। जिसमें वर्ष 2013 से लेकर अब तक कितनी सम्पतियों के पंजीयन हुआ। इसकी जानकारी चाहते हुए प्रमाणित प्रतिलिपियां मांगी थी। मामले में 10 मार्च 2021 को उप पंजीयन कार्यालय ने आवेदक को पत्र लिखा। जिसमें बताया कि आप द्वारा चाही की सूचना के लिए 16 लाख 97 हजार 160 रुपए फोटो कॉपी शुल्क, 42 हजार 249 पन्नों की प्रमाणित प्रतिलिपि शुल्क 230 रुपए प्रति दस्तावेज के हिसाब से 97 लाख 58 हजार 670 रुपए होता हैं। पत्र में लिखा कि एक करोड़ 14 लाख 55 हजार 830 रुपए का चालान राजकोष में जमा करवा कर उक्त सूचनाओं की प्रति प्राप्त कर सकते हैं।

उपपंजीयन कार्यालय रोहट से यह मांगी जानकारी
- उप पंजीयन कार्यालय रोहट के द्वारा सम्पत्ति का मौका निरीक्षण जिनके द्वारा किया जा रहा हैं, उनका नाम, पदनाम व इस कार्यालय में 10 जनवरी 2013 से आज दिनांक तक मौका निरीक्षण जिस-जिस ने किया उन समस्त पत्रावाली की प्रमाणित प्रतिलिपि उपलब्ध कराएं।
- उप पंजीयन कार्यालय रोहट के रेकर्ड अनुसार 10 जनवरी 2013 से लेकर आज दिनांक तक सम्पत्तियों के पंजीयन जिसमें सम्पत्ति की किस्त जैसे कृषि, आवासीय, वाणिज्यिक को अलग-अलग विवरण सहित मूल्य व क्रेता, विक्रेता व दानपत्र, इकरारनामा लिजडिड व पट्टों का पंजीयन की समस्त लिस्ट व इनसे संबंधित समस्त पत्रावली की प्रमाणित प्रतिलिपि।
- उप पंजीयन कार्यालय रोहट में कार्यालय रेकर्ड के अनुसार 10 जनवरी 2013 से लेकर आज दिनांक तक उप पंजीयन कार्यालय प्रभार जिस-जिस के पास रहा उसकी दिनांक, नाम, पदनाम सहित प्रमाणित प्रतिलिपियां उपलब्ध करवाएं।
- उप पंजीयन कार्यालय रोहट में विभाग द्वारा सम्पत्ति का मौका निरीक्षण 10 जनवरी 2013 से आज तक किया गया हो उन सभी की लिस्ट व उन मौका निरीक्षण के परिपत्र की सत्य प्रतिलिपियां व मौका निरीक्षण पंजियका रजिस्टर की सत्य प्रतिलिपि मय प्रमाणित उपलब्ध करवाएं। इसके सहित आठ बिन्दुओं में आवेदक ने सूचना मांगी थी।

इन्होंने कहा...
-आवेदक बीपीएल हैं तो किया हुआ। उसने वर्ष 2013 से लेकर अभी तक की गई रजिस्ट्रियों की प्रमाणित कॉपी मांगी हैं। राजस्थान पंजीयन नियम 1995 के नियम 49 व सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 की धारा आठ के तहत पंजीयन अधिनियम 1908 के प्रावधानों के तहत निर्धारित शुल्क जमा करवाने पर वांछित दस्तावेजों की प्रतिलिपि जारी की जा सकती हैं। - प्रवीण चौधरी, कार्यवाहक तहसीलदार रोहटइन्होंने कहा

-बीपीएल परिवार से हूं। सूचना के अधिकार के तहत पूर्व में भी कई सूचनाएं निशुल्क ली। अब इतनी बड़ी शुल्क राशि जमा करवाना संभव नहीं। यह सब सूचना नहीं देने के बहाने है। - ओमाराम बंजारा, आरटीआई कार्यकर्ता

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned