scriptOne lakh 33 thousand 135 Indian students in 242 countries | देश के स्टुडेंट क्यों जाते हैं अमरीका, पढ़ें वजह... | Patrika News

देश के स्टुडेंट क्यों जाते हैं अमरीका, पढ़ें वजह...

सामाजिक बदलाव : पाली-जालोर-सिरोही के युवा यूक्रेन-कजाकिस्तान जा रहे डॉक्टर बनने
-242 देशों में एक लाख 33 हजार 135 भारतीय विद्यार्थी

पाली

Published: June 27, 2022 08:08:42 pm

-रतन दवे
पाली। विदेश पढऩे की इच्छा रखने वाले विद्यार्थियों की संख्या लाखों में रहती है लेकिन यह सपना साकार हर साल 4 से 5 लाख का ही पूरा होता है। इस साल मार्च तक 133135 विद्यार्थी विदेश पढऩे पहुंचे है और इसमें पहली पसंद अमरीका है, जहां 44709 युवा पढ़ाई करेंगे। रूस और यूक्रेन की लड़ाई के बावजूद यहां पर भी पढऩे वालों ने अपना सिलसिला जारी रखा हुआ है। इंजीनियरिंग, चिकित्सा, वैज्ञानिक बनने के लिए अधिकांश विलायत पढऩे पहुंच रहे है। विश्व के 242 देशों में हमारे विद्यार्थी है। पाली, जालोर, सिरोही के स्टुडेंट यूक्रेन, कजाकिस्तान व कनाडा पढऩे को पहुंच रहे है।
देश के स्टुडेंट क्यों जाते हैं अमरीका, पढ़ें वजह...
भारतीय विद्यार्थी
मेडिकल पहली पसंद
विदेश में पढऩे वालों की पहली पसंद मेडिकल की पढ़ाई है। अमरीका में भी जाने वाले 37 प्रतिशत के करीब विद्यार्थी मेडिकल की ही पढ़ाई कर रहे है। इंजीनियरिंग और वैज्ञानिक बनने की चाहत दूसरे स्थान पर है।
रूस-यूक्रेन में घटे भारतीय
रूस और यूक्रेन की लड़ाई का असर भारतीय विद्यार्थियों पर पड़ा है। पिछले साल रूस में 5293 विद्यार्थी थे, जो इस साल अब तक 1210 है और यूक्रेन में 18596 विद्यार्थी घटकर 1491 रह गए है। यह असर रूस-यूक्रेन युद्ध का है।
विद्यार्थियों को पाकिस्तान नहीं पसंद
पाकिस्तान जाने वाले विद्यार्थी 2017 से 2019 तक 500 के करीब थे लेकिन अब यह संख्या घटकर 04 रही है इस साल। पिछले साल भी 66 विद्यार्थी ही पाकिस्तान में बताए गए है।
वर्ष विदेश में पढ़ाई
2017-454009
2018-517998
2019-586337
2020-259655
2021-444553
2022-133135 (मार्च तक)

किस देश में ज्यादा ( इस साल)
अमरीका-44709
यूनाइटेड किंगडम-27691
कनाडा-19660
आस्ट्रेलिया- 14176
बांग्लादेश- 2516
फ्रांस-1210
जर्मनी-3128
आयरलैण्ड- 1101
कजाकिस्तान- 1465
किर्गिस्तान- 1806
रूसी संघ- 2439
सिंगापुर-2301
यूक्रेन-1491

विदेश में पढ़ाई के लिए यह परीक्षाएं
जीआरई : स्नातक रिकार्ड परीक्षा(जीआरई) कनाडा या संयुक्त राज्य अमरीका के संस्थानों में अध्ययन के लिए है। मौखिक, गणितीय और सामान्य विश्लेषणात्मक कौशल आंका जाता है। संयुक्त राज्य अमरीका के अंदर इंजीनियरिंग और विज्ञान में प्रवेश को जरूरी।
जीमैट : बिजनेस कॉलेजों में प्रवेश के लिए। औसत स्कोर 570 से 580 जरूरी । शीर्ष कॉलेज के लिए 700 का स्कोर अनिवार्य है। जीआरई और जीमैट टेस्ट अलग-अलग होते हैं।

सैट : स्कॉलैस्टिक एप्टीट्यूड टेस्ट (सेट) संयुक्त राज्य अमरीका के कुछ विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवश्यक। सामान्य लेखन कौशल व व्याकरण की जांच के लिए रीजनिंग टेस्ट और चुने हुए विषय के लिए विषय परीक्षण। परीक्षा साल में सात बार होती है।
एमसीएटी और एलएसएटी : संयुक्त राज्य अमरीका में चिकित्सा और कानून के लिए। बहुविकल्पीय परीक्षा है, प्रासंगिक विषय केन्द्रित है। एलएसटी जो संयुक्त राज्य अमरीका, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया के अंदर कानून में अपना करियर बनाना चाहते हैं, उनके लिए परीक्षा है।
टीओइएफएल और आइइएलटीएस
अंग्रेजी भाषा में दक्षता के लिए। यूएसए, यूके, कनाडा, ऑिस्ट्रया जैसे 100 देशों के विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में चयन टीओईएफएल स्कोर के माध्यम से होता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमार कल 2 बजे लेंगे शपथ, मंत्रिमंडल में बन सकते हैं 35 मंत्रीनीतीश ने सरकार बनाने का दावा पेश किया, कहा- हमें 164 विधायकों का समर्थनरवि शंकर प्रसाद ने नीतीश कुमार से पूछा बीजेपी के साथ क्यों आए थे? पीएम मोदी के नाम पर आपको जीत मिली, ये कैसा अपमान?पश्चिम बंगाल के बीरभूम में दर्दनाक हादसा, ऑटोरिक्शा और बस की टक्कर में 9 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख'मुफ्त रेवड़ी' कल्चर मामले में सुप्रीम कोर्ट में आमने-सामने AAP और BJP, आम आदमी पार्टी ने कहा- PM मोदी ने 'दोस्तवाद' के लिए खाली किया देश का खजाना23 बार की ग्रैंड स्लैम चैंपियन सेरेना विलियम्स ने अचानक किया रिटायरमेंट का ऐलान, फैंस हुए भावुकMaharashtra Cabinet Expansion: कौन है सीएम शिंदे की नई टीम में शामिल 18 मंत्री? तीन पर लगे है गंभीर आरोपBihar New Govt: नीतीश कुमार CM, डिप्टी CM व होम मिनिस्ट्री राजद के पाले में, कांग्रेस से स्पीकर बनाए जाने की चर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.