नासिक के प्याज का अर्द्धशतक, आवक कम होने से बढ़े भाव

-कहीं औसत तो कहीं तेज बारिश का असर, जयपुर व एमपी के प्याज की बढ़ी डिमांड

By: Suresh Hemnani

Published: 13 Oct 2021, 06:54 PM IST

-सुरेश हेममानी
पाली। राजस्थान सहित अन्य प्रदेशों में कहीं कम तो कहीं औसत से ज्यादा बारिश हुई है। जिसके चलते प्याज की आवक भी कम हो गई। प्याज के भाव आसमान छूने लग गए। ऐसे में आसमान छूता प्याज का भाव रसोई का जायका तो कम कर ही है साथ ही लोगों के आंसू भी बहा रहा है। पाली के नई सब्जी मंड़ी में प्याज के होलसेल व्यापारियों ने बताया कि इससे प्याज की फसल पर भारी असर पड़ा है। वर्तमान में प्याज नासिक, चौपड़ा, मध्यप्रदेश व जयपुर से शहर की सब्जी मंडी में मंगवाया जा रहा है।

वहीं मध्यप्रदेश के प्याज के भाव की बात करें तो होलसेल 20 से 30 रुपए प्रति किलो है, तो रिटेल में इस प्याज के भाव 30 से 50 रुपए प्रति किलो है। जयपुर के प्याज होलसेल भाव 30 से 35 रुपए प्रति किलो है तो रिटेल में इस प्याज का भाव 40 रुपए प्रति किलो है। चौपड़ा के प्याज का होलसेल भाव 23 से 26 रुपए प्रति किलो है तो रिटेल में इस प्याज का भाव 30 से 32 रुपए प्रति किलो है।

नासिक के प्याज की मांग अधिक
पाली के नई सब्जी मंड़ी में वर्तमान में नासिक, मध्यप्रदेश, जयपुर व चौपड़ा से प्याज मंगवाया जा रहा है। जिसमें नासिक के प्यास की क्वॉलिटी अच्छी होने के कारण इसकी मांग अधिक रहती है। नासिक के प्याज का होलसेल भाव 38 से 40 रुपए प्रति किलो है। रिटेल में इस प्याज का भाव 45 से 50 रुपए प्रति किलो है।

खपत पर पड़ा असर
प्याज के भाव बढऩे के साथ प्रति दिन एक ट्रक यानी 16 टन प्याज की खपत पाली शहर में हो रही है। भाव कम होने के दौरान प्रति दिन दो ट्रक यानी 30 से 32 टन प्याज प्रति दिन के हिसाब से खपत होती थी। भाव बढऩे से खपत पर भी असर पड़ गया है।

इनका कहना है
राजस्थान व अन्य प्रदेशों में कहीं कम तो कहीं औसत से ज्यादा बारिश होने के कारण प्याज की फसलें खराब हो गई है। इस कारण से प्याज की आवक कम होने के साथ भाव बढ़ गए हैं। -हेमन्त नावानी, प्याज के होलसेल व्यापारी

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned