पुनाड़िया की गुनगुन के फिर खिलखिलाने से चहका परिवार

- आरबीएसके के तहत हृदय रोग का जयपुर के निजी अस्पताल में कराया गया मुफ्त उपचार

By: Suresh Hemnani

Published: 27 Jun 2021, 06:22 PM IST

पाली। पाली जिले के रानी ब्लॉक के पुनाडिय़ा गांव की छह माह पूर्व जन्मी गुनगुन के स्वस्थ होकर खिलखिलाने से उसका पूरा परिवार चहक उठा है। उसके हृदय का राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत ऑपरेशन करवाकर नया जीवन दिया गया है। इस बालिका का कोरोना काल में जयपुर स्थित निजी अस्पताल में ऑपरेशन कराया गया।

पुनाडिय़ा गांव के रहने वाले भगाराम देवासी के यहां छह माह पूर्व गुनगुन का जन्म हुआ। बच्ची को दूध पीने में परेशानी हो रही थी। शरीर भी नीला पड़ जाता था। वजन नहीं बढ़ रहा था। उसे चिकित्सकों ने अन्य बीमारियों से भी ग्रसित बताया। गुनगुन के पिता कई डॉक्टरों को दिखाया गया, लेकिन वह ठीक नहीं हुई। इस दौरान गुनगुन का नामांकन पुनाडिय़ा गांव के आंगनबाड़ी द्वितीय में कार्यकर्ता इंदूबाला व आशा सहयोगिनी रंजन सुथार की ओर से किया गया। वहां की एएनएम रतन मकवाना को जब गुनगुन के बारे में पता लगा तो वह परिजनों से मिली। इस पर जानकारी मिली कि परिवार की आर्थिक स्थिति भी बेहतर नहीं है। पिता भगाराम मुंबई में चाय की दुकान करते है।

21 जून को कराया ऑपरेशन
इसके बाद एएनएम ने रानी ब्लॉक में कार्यरत आरबीएसके टीम को बताया। इस पर डॉ. हरमत परमार, डॉ. नीतू राठौड़, डॉ. शांतिलाल व डॉ. मोहसिन ने बच्ची की जांच सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रानी पर बच्चों के डॉक्टर से करवाई। रानी बीसीएमओ डॉ. जितेन्द्र पुरोहित के नेतृत्व में टीम ने जिला स्तर पर आरबीएसके के डीएनओ डॉ. शिवशंकर शर्मा, डीआईसी सेंटर समन्वयक अजरुद्दीन, विनोद पुरोहित से बात की और स्वास्थ्य जांच के लिए जिला अस्पताल लाए। यहां से बच्ची को राज्य सरकार द्वारा एन्पेनल्ड फोर्टिस हॉस्पिटल जयपुर भेजा गया। जहां 21 जून को उसका सफल हृदय का ऑपरेशन किया गया। अब बच्ची स्वस्थ है।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned