फिर आफत : अब चने की फसल को चट कर रही लट

- पाली जिले में एक लाख हैक्टेयर भूमि में चने की बुवाई

outbreak of Heliothis braided at gram crop in Pali :
- चने की फसल में बीमारी से किसानों के चेहरों पर मायूसी

Suresh Hemnani

January, 2006:29 PM

पाली। outbreak of Heliothis braided at gram crop in Pali : जिले में इस बार अच्छी बारिश होने के कारण किसानों ने करीब एक लाख हैक्टेयर भूमि में चने की बुवाई की। मौसम भी फसलों के अनुकूल रहा। इससे खेल-खलिहानों में चने की फसल लहलहाने लगी। लेकिन पिछले कुछ दिनों से चने की फसल [ Gram sowing ] में हेलियोथिस लट (चने की लट) लग गई है। यह लट चने की फसल को चट कर रही है। चिंता की बात ये है कि ये लट घेघरियों में से दाना खा जाती है। इससे उत्पादन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। इससे किसानों के चेहरे पर मायूसी छा गई है।

यह होता है नुकसान
चने की फसल में लगने वाली हेलियोथिस लट फूलों में अंडे देती है। बाद में घेघरा में प्रवेश कर बनने वाले दाने को अंदर ही अंदर खाना शुरू कर देती है। इससे फसल उत्पादन काफी घट जाता है।

लक्ष्य से तीन गुणा अधिक बुवाई
इस बार जिले में 30 हजार हैक्टेयर भूमि में चने फसल बुवाई का लक्ष्य था। इसके मुकाबले में किसानों ने एक लाख हैक्टेयर भूमि में चने की बुवाई की है। रोहट, पाली, मारवाड़ जंक्शन, सोजत बाली व सुमेरपुर क्षेत्र में चने की फसल की अधिक बुवाई हुई है।

कृषि विभाग चेता, बताया उपचार
कृषि विभाग के अधिकारियों के मुताबिक चने की फसल में इमामेथटीन बेनजोएट 5 प्रतिशत एस.जी. 250 ग्राम दवा 500 लीटर पानी में प्रति हैक्टेयर स्प्रे करना चाहिए। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि यह प्रकोप अभी प्रारम्भिक अवस्था में ही है। दवा का स्प्रे करने पर लट समाप्त हो जाएगी।

स्प्रे की दे रहे सलाह
चने की फसल में हेलियोथिस लट लगी है। कृषि पर्यवेक्षक व अधिकारी खेतों में जाकर फसल को देख रहे है। किसानों को दवा स्प्रे करने की सलाह दे रहे हैं। -डॉ. मनोज अग्रवाल, सहायक निदेशक, कृषि विभाग विस्तार पाली

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned