टिड्डियों ने यहां डाला डेरा, किसानों की उड़ी नींद

- पाली जिले के डरी व गेलावास में अधिकारियों ने संभाला मोर्चा

Pakistani Tiddi Dal attacked in Pali :

By: Suresh Hemnani

Published: 06 Jan 2020, 02:13 PM IST

पाली। Pakistani Tiddi Dal attacked in Pali : बाड़मेर जिले केसमदड़ी और आसपास के इलाकों में टिड्टी दल के डेरा डालने से रोहट क्षेत्र में फसलों पर खतरा मंडराने लगा है। करमावास, भूति व रानी देशलपुरा गांव के तीन किलोमीटर क्षेत्र में टिड्डी दल ने धावा बोल दिया है। समदड़ी जिले की सीमा से जुड़ता हुआ क्षेत्र होने से कृषि विभाग के अधिकारियों की दो टीम मौके पर पहुंच गई है।

कृषि विभाग [ Agriculture Department ] के सहायक निदेशक डॉ. मनोज अग्रवाल ने बताया कि टिड्डी दल ने समदड़ी के आस-पास गांवों में रात में डेरा डाल दिया है। सोमवार सुबह विभागीय अधिकारियों ने रोहट क्षेत्र के डरी व गेलावास में मोर्चा संभाला। दो टीम टिड्डी दल पर नजर रखे हुए हैं। टिड्डी दल को भगाने को लेकर माउंटेड स्प्रे के लिए ट्रेक्टर तैयार करवाए गए हैं। रसायन का स्प्रे किया जाएगा। साथ ही धुआं व आग जला कर टिड्डी को भगाने की तैयारी कर रखी है।

ट्रैक्टर से टिड्डी को भगाने की कवायद
कृषि अधिकारी अशोकसिंह राजपुरोहित ने बताया कि टिड्डी दल को भगाने को लेकर टै्रक्टर के साइलेंसर को खोल दिया गया है। ट्रैक्टर के साइलेंसर की आवाज से टिड्डी दल को भगाने की तैयारी कर रखी है। इधर, किसानों ने ढोल-थाली बजाकर टिड्डियों को उड़ाने की तैयारी कर रखी है।

गेलावास से महज 15 किलोमीटर दूरी पर आफत
रोहट। जालोर, सिरोही के बाद अब बीती शाम को रोहट क्षेत्र के गेलावास से मात्र 15 किलोमीटर दूरी पर ट्टिडी दल आ पहुंचा। इससे किसानों के माथे पर चिंता की लकीरे नजर आने लगी है। किसान सर्तक होकर अपनी फसलों को बचाने के जुगाड़ में लग गए हैं।

तहसीलदार खीमाराम देवड़ा ने बताया कि रविवार को ट्टिडी दल भोरड़ा गांव में था, जहां से हवा के रूख के साथ ट्टिडी दल समदड़ी, भलो का बाड़ा, खरंटिया होते हुऐ रानी देशी पुरा पहुंच गया है। यहां ट्टिडी दल ने पड़ाव डाला है, कारण कि रात्रि में ट्टिडी दल उड़ान नहीं भरता है। तहसीलदार खीमाराम देवड़ा ने जैतपुर के आस पास सभी पटवारी को निर्देश देते हुऐ मुख्यालय पर रहने के आदेश दिए हैं।

इधर, जिला प्रशासन से मांगा सहयोग
कांग्रेस नेता महावीरसिंह सुकरलाई ने टिड्डी दल के खतरे को भांपते हुए जिला प्रशासन से बात की। उन्होंने कृषि विभाग के अधिकारियों को बंदोबस्त के साथ यहां भेजने की मांग की है, ताकि फसलों में नुकसान रोका जा सके। उन्होंने किसानों को भी सतर्क रहने को कहा है।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned