इ-संजीवनी एप से मरीजों को राहत दिलाने में पाली अव्वल

इ-संजीवनी एप से मरीज घर बैठे ले रहे स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ

By: Rajeev

Published: 13 Oct 2021, 09:12 PM IST

पाली. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोरोना काल में इ-संजीवनी एप के माध्यम से घर बैठे चिकित्सा सेवा देना शुरू किया गया था। इसमें पाली जिले ने राज्य में पहला स्थान प्राप्त किया है। जिले में एप के माध्यम से 16 हजार 500 लोगों ने स्वास्थ्य लाभ लिया है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की राष्ट्रीय टेली कंसलटेशन सेवा के तहत इ-संजीवनी ओपीडी मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से घर पर ही इ-संजीवनी मोबाइल ओपीडी सेवा आरंभ की गई थी। इस योजना के तहत मरीज राज्य में कार्यरत विशेषज्ञ चिकित्सकों से किसी भी बीमारी के लिए इलाज के लिए परामर्श ले सकते है। उससे जनरेट प्रिस्क्रिप्शन (दवा पर्ची) से सरकारी दवा काउंटर से दवाइयां ले सकते है। इसमें एमबीबीएस चिकित्सक, विशेषज्ञ चिकित्सक, फिजिशियन, शिशुरोग विशेषज्ञ, स्त्रीरोग विशेषज्ञ, चर्मरोग विशेषज्ञ की सेवाएं दी जा रही है।

इस तरह ले कर सकते है एप का उपयोग

इस सेवा का लाभ लेने के लिए मोबाइल के प्ले स्टोर से इ-संजीवनी ओपीडी मोबाइल एप डाउनलोड करना होगा। चिकित्सक सलाह के लिए एप में मरीज को अपना मोबाइल नम्बर प्रमाणित करना होगा। इसके बाद टोकन नम्बर लेकर नोटिफिकेशन के अनुसार लॉगिंग करना होता है। ऐसा करने के बाद मरीज का नम्बर आने पर चिकित्सक सलाह देते है और इ-दवा पर्ची देते है। उसे डाउनलोड कर राजकीय स्वास्थ्य केन्द्र से दवा ली जा सकती है। यह सेवा सोमवार से शनिवार सुबह 9 से 3 बजे तक उपलब्ध है।

Rajeev Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned