scriptPALI : Unique custom started before marriage in Pali | PALI : शादी से पहले शुरू हुआ यह अनूठा रिवाज, रश्म निभाने के बाद ही फेरे लेते हैं दूल्हा-दुल्हन | Patrika News

PALI : शादी से पहले शुरू हुआ यह अनूठा रिवाज, रश्म निभाने के बाद ही फेरे लेते हैं दूल्हा-दुल्हन

शिक्षा के लिए आगे आ रहे लोग, बढ़ रहा कारवां, सोवनिया, भाणपुरा, खूनी का गुड़ा, मालारी, कुरना व सिंघासनी में दिया शिक्षा नेग

पाली

Updated: February 20, 2022 02:10:40 pm

पाली. मारवाड़ क्षेत्र में बदलाव की बयार जारी है। अब वैवाहिक कार्यक्रमों में भी लोग शिक्षा नेग देने के लिए आगे आ रहे हैं। इसी कड़ी में राजपूत शिक्षा कोष ट्रस्ट (Rajput education trust) की ओर से राजपूत समाज (Rajput community) में सामाजिक उत्थान और सुधार के साथ शिक्षा के क्षेत्र में प्रयास किए जा रहे हैं। यहां तक वैवाहिक समारोह में भी समाजबंधु आर्थिक रूप से कमजोर बालक-बालिकाओं की शिक्षा के लिए आर्थिक सहायता दे रहे हैं।

शिक्षा कोष के चन्द्रवीर सिंह सिसरवादा ने बताया कि सोवनिया के भीम सिंह चम्पावत की पुत्री निकेश चम्पावत के विवाह पर 11 हजार का शिक्षा नेग दिया। इससे प्रभावित होकर वर पक्ष के भानपुरा उदयपुर से विक्रम सिंह राणावत व दूल्हे योगेंद्र सिंह राणावत ने भी 11 हजार की सहायता दी। महिपाल सिंह महेचा की शादी में 5100 रुपए का नेग दिया गया। इस मौके पर चन्दन सिंह महेचा, गंगा सिंह महेचा, महेन्द्र सिंह महेचा मौजूद थे।बाली क्षेत्र के मालारी गांव में सुरेन्द्र सिंह बड़ागुढ़ा व चैन सिंह मालारी की प्रेरणा से मेघ सिंह चम्पावत ने अपने पुत्र कृष्णपाल सिंह के विवाह में 5100 रुपए का सहयोग किया। इसी कड़ी में श्याम सिंह सजाड़ा की प्रेरणा से सिंघासनी के भगवान सिंह ने पुत्र के विवाह में 5100 रुपए, वर पक्ष के मनोहर सिंह कुरना ने 5100 सौ रुपए का सहयोग किया गया।

पहल की कर रहे सराहना
इस पहल की विधायक पुष्पेंद्र सिंह राणावत, गिरवर सिंह उदेशी कुआं ने सराहना की। वहीं पद्मश्री एवं पद्मभूषण डॉ. नारायण सिंह माणकलाव, संयोजक कान सिंह राणावत, कोष के जगपाल सिंह बाला, भरत सिंह भाकरीवाला, जसवंत सिंह ठाकुरला, कल्याण सिंह सोवनिया, सवाई सिंह जैतावत, नरपतसिंह गुड़ा श्यामा, नवरतन सिंह सोवनिया, पप्पू सिंह माताजी गुड़ा, प्रताप सिंह सोवनिया, अजीत सिंह राजकीयावास, देवी सिंह मण्डली, नटवर सिंह मंडली, बाघ सिंह गुड़ा पृथ्वीराज समाजबंधुओं से आगे आने का आह्वान किया।

PALI : शादी से पहले शुरू हुआ यह अनूठा रिवाज, रश्म निभाने के बाद ही फेरे लेते हैं दूल्हा-दुल्हन
PALI : शादी से पहले शुरू हुआ यह अनूठा रिवाज, रश्म निभाने के बाद ही फेरे लेते हैं दूल्हा-दुल्हन
सीरवी समाज की पहल: बेटियों की शिक्षा के लिए बढ़ाए हाथ, तीन लाख की सहायता

बेटियों को शिक्षा की राह पर आगे बढ़ाने की मंशा से सीरवी समाज (Seervi commmunity) भी अब जागरूक हो चला है। वैवाहिक आयोजनों में समाज के आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों की बेटियों की शिक्षा के लिए वर-वधु पक्ष के परिवार आर्थिक सहयोग राशि देकर समाज को नई राह दिखा रहे हैं।
सीरवी किसान छात्रावास पाली के व्यवस्थापक चौधरी रमेश करणवा ने बताया कि भामाशाह देवाराम पुत्र दुदाजी राठौड़ निवासी पावा सुमेरपुर ने अपनी बेटियों सोनिया और पूनम तथा वर पक्ष की ओर से वनाराम पुत्र शोभाजी निवासी चांचोड़ी ने अपने पुत्र भरत और शेषाराम पुत्र भोलाराम परमार निवासी बीजोवा ने अपने पुत्र मुकेश की शादी पर समाज के मेधावी व आर्थिक रूप से कमजोर विद्यार्थियों की सहायतार्थ को समर्पित संस्थान सीरवी किसान छात्रावास पाली को 51-51 हजार रुपए कुल एक लाख 53 हजार रुपए की सहयोग राशि दी गई।
प्रतियोगियों की तैयारी के लिए भी सहयोग
प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले परीक्षार्थियों के लिए जयपुर में आवासीय व्यवस्था का संचालन करने वाली संस्था सीरवी एजुकेशन एंड वेलफेयर सोसायटी जयपुर को भी तीनों भामाशाहों की ओर से 51-51 हजार रुपए कुल एक लाख 53 हजार रुपए की सहायता प्रदान की गई।
सीरवी किसान छात्रावास पाली के व्यवस्थापक रमेश चौधरी करणवा ने ये राशि प्राप्त की। इस पर व्याख्याता प्रभुराम मुलेवा चांचौड़ी, अखिल भारतीय सीरवी युवा परिषद् अध्यक्ष सुरेश चौधरी व सीरवी किसान छात्रावास पाली के व्यवस्थापक चौधरी रमेश करणवा ने भामाशाहों का स्वागत किया। इस अवसर पर शिक्षाविद् नाथूराम मुलेवा, कानाराम, भबुताराम, सोनाराम काग, कालुराम राठौड़, जेठाराम काग, जीवाराम गेहलोत, जेठाराम परिहार, भूराराम परिहार, दिलीप परिहार, पकाराम कोटवाल, घीसाराम, गणाराम आदि उपस्थित रहे।
दशकों से चली आ रही परम्परा
व्यवस्थापक रमेश चौधरी ने बताया कि सीरवी समाज में सकारात्मक आर्थिक सहयोग की परम्परा दशकों से चली आ रही है। इससे पूर्व अक्टूम्बर माह में भामाशाह वनाराम शोभाजी वरपा निवासी चांचोड़ी ने सीरवी किसान छात्रावास पाली में छात्रों के लिए पुस्तकालय बनवाकर दिया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

काशी विश्वनाथ मंदिर-ज्ञानवापी परिसर विवादः मस्जिद परिसर में जहां मिला शिवलिंग वो स्थल होगा सील, कोर्ट का आदेश, जानें क्या कहा DM ने...असम में बाढ़ से 7 जिलों के लगभग 57 हजार लोग प्रभावित, बचाव कार्य में जुटी इंडियन एयरफोर्सराजस्थान में तपिश और लू बनी ‘संजीवनी’, हुआ ये बड़ा फायदाCNG Price Hike: एक साल में CNG में 69.60% की बढ़ोतरी, जानें आपके शहर की लेटेस्ट कीमतअब हवाई सफर होगा महंगा! Jet Fule की कीमतें बढ़ने से पड़ेगा असरनार्थ कोरिया में फैला कोरोना, मदद के लिए आगे आया साउथ कोरियासोनिया गांधी का ये अंदाज पंसद आया, वे मुस्कुराई तो सभी कांग्रेसी भी मुस्कुराए, देखे पूरा वीडियोमहिला बीड़ी मजदूरों ने कहा, हज़ार बीड़ी बनाने पर मिलते हैं सिर्फ  80 रुपये
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.