एक बैंक की सत्ता के लिए कैसे बड़े-बड़े महारथी लगा रहे दम

एक बैंक की सत्ता के लिए कैसे बड़े-बड़े महारथी लगा रहे दम

Avinash Kewaliya | Publish: Jul, 30 2017 12:23:00 PM (IST) Pali, Rajasthan, India

अरबन को-ऑपरेटिव बैंक के चुनाव 31 जुलाई को बरसात के चलत सोशल मीडिया तक सिमटा प्रचार-प्रसार

पाली. 

पाली अरबन को-ऑपरेटिव बैंक के संचालक मंडल के सदस्यों के निर्वाचन के लिए 31 जुलाई को मतदान प्रस्तावित है। बरसात के चलते इन दिनों उम्मीदवारों का प्रचार अभियान फिलहाल सोशल मीडिया पर जारी है। अभी तक के रूझान में अध्यक्ष पद की दौड़ में बैंक के पूर्व अध्यक्ष व भाजपा के जिला कोषाध्यक्ष सोहन कवाड़ व भाजपा के पूर्व सांसद पुष्प जैन के भाई व कई सामाजिक संगठनों से जुड़े जिनेन्द्र जैन के नाम सामने आए है। मजेदार बात यह है कि दोनों ही उम्मीदार एक ही राजनीतिक पार्टी से जुड़े हुए है। जिन्हें प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से पार्टी के कई बड़े नेताओं का समर्थन प्राप्त है। अब देखने वाली बात होगी कि संचालक मंडल के सदस्य का चुनाव जीतने के बाद कौन मंडल के सदस्यों का बहुमत हासिल कर प्रतिष्ठा की कुर्सी (बैंक अध्यक्ष) पर काबिज होगा।

20 घंटे में बरसा पाली में 5.6 इंच पानी, हर ओर तबाही का मंजर


एक मतदाता कर सकेगा 11 वोट

अनुसूचित जनजाति आरक्षित डायरेक्टर पद के लिए इस वर्ग से सिर्फ रवि मीणा का ही आवेदन आया था। जिस पर उन्हें निर्विरोध डायरेक्टर निर्वाचित चुना गया। अब डायरेक्टर के 11 पदों के लिए 34 उम्मीदवार मैदान में है। जिनका भविष्य बैंक के 10 हजार 917 वोटर तय करेंगे। प्रत्येक वोटर अधिकतम 11 वोट दे सकता है।

12 में से छह सीट आरक्षित

संचालक मंडल के 12 डायरेक्टर पदों में से छह सीटें आरक्षित वर्ग की है। जिनमें 1 सीट एससी वर्ग की, दो महिला वर्ग, दो बाहरी क्षेत्र (पाली शहर के अलावा) और एक एसटी वर्ग के लिए आरक्षित है। 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned