पंच-सरपंच चुनाव 2020 : डाउनलोड आवेदन होगा मान्य, दुबारा एनओसी की नहीं होगी जरूरत

-उम्मीदवारों के लिए राहत भरी खबर

By: Suresh Hemnani

Published: 12 Sep 2020, 09:44 AM IST

पाली/रायपुर मारवाड़। सरपंच या वार्डपंच का चुनाव लडऩे जा रहे उम्मीदवारों के लिए राहत भरी खबर है। उन्हें आवेदन तैयार करने के लिए अब मतदान दल के पहुंचने की राह नहीं देखनी पड़ेगी। आवेदन फार्म वे किसी भी ई-मित्र कियोस्क पर जाकर निर्वाचन आयोग की साइड से डाउनलोड कर प्राप्त कर सकते हैं। एनओसी के लिए भी पंचायत समिति के चक्कर लगाने की आवश्कता नहीं है। जिन्होंने जनवरी 2020 में एनओसी प्राप्त कर ली थी वही एनओसी अब भी मान्य है।

दरअसल, पंच-सरपंच के चुनाव की तिथि घोषित होते ही उम्मीदवार सक्रिय हो गए। वे प्रचार-प्रसार के साथ आवेदन फार्म तैयार करने में जुट गए हैं। उन उम्मीदवारों को दो सवाल परेशान कर रहे थे। इसे लेकर पत्रिका ने निर्वाचन अधिकारी से उन दो सवालों को लेकर वार्ता कर स्थिति को स्पष्ट किया है। आवेदन फार्म मतदान दल द्वारा बूथ पर दिया जाता है। इस बार भी दिया जाएगा, लेकिन जो उम्मीदवार पहले से ही आवेदन फार्म तैयार करना चाहते हैं, वे निर्वाचन आयोग की साइड पर आवेदन फार्म डाउनलोड कर प्राप्त कर सकते हैं। ये फार्म भी मान्य होगा।

पंच-सरपंच का चुनाव लडऩे के लिए उम्मीदवार को पंचायत समिति से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेना अनिर्वाय होता है। इसमें उन उम्मीदवारों को एनओसी की जरूरत नहीं है जो पहली बार चुनाव लड़ रहे हैं। एनओसी की जरूरत सिर्फ उन्हें है जो पूर्व में पंच या सरपंच पद पर रह चुके हैं और दुबारा चुनाव लड रहे हैं। ऐसे उम्मीदवारों ने पूर्व में जब चुनाव तिथि घोषित हुई थी, जब दिसंबर या जनवरी 2020 में एनओसी प्राप्त कर ली थी उन्हें अब दुबारा एनओसी की जरूरत नहीं है। वे प्राप्त एनओसी का उपयोग कर सकते हैं, वह एनओसी मान्य होगी।

परिवार के सदस्य को एनओसी की जरूरत नहीं
निर्वाचन आयोग ने गाइडलाइन में ये भी स्पष्ट कर रखा है कि वार्डपंच या सरपंच पद पर जो पूर्व में रह चुके हैं उनके परिवार का यदि कोई सदस्य चुनाव लड़ता है तो उन्हें एनओसी की जरूरत नहीं है।

मान्य होगा आवेदन व एनओसी
निर्वाचन आयोग की साइड से प्राप्त किया गया आवेदन फार्म भी मान्य होगा। जिन उम्मीदवारों ने दिसंबर या जनवरी में एनओसी प्राप्त कर ली थी, वह एनओसी मान्य है। दुबारा एनओसी प्राप्त करने की आवश्कता नहीं है। जो उम्मीदवार पूर्व में किसी भी पद पर नहीं थे उनके लिए एनओसी प्राप्त करनी अनिर्वाय नहीं है। -राजेश मेवाड़ा, निर्वाचन अधिकारी, रायपुर

इधर, जिला निर्वाचन अधिकारी ने प्रकोष्ठ प्रभारियों को दिए निर्देश
पाली। जिला निर्वाचन अधिकारी अंश दीप ने शुक्रवार को पंचायती राज संस्थाओं के आम चुनाव के लिए गठित प्रकोष्ठ प्रभारियों की बैठक लेकर अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। जिला निर्वाचन अधिकारी अंश दीप ने कहा कि संबंधित अधिकारियों को राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देश एवं कलेण्डर के अनुसार उन्हें सौंपे गए दायित्वों की पूर्ण पालना सुनिश्चित करते हुए चुनाव संबंधी कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता से सम्पादित करें।

उन्होंने कहा कि जोनल मजिस्ट्रेट एवं मतदान दल को प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षक कॉमन समस्याओं के निस्तारण के संबंध में पूरी जानकारी से अवगत कराएं। उन्होंने मतदान दलों व जोनल मजिस्ट्रेटों की रवानगी के लिए वाहनों की पर्याप्त व्यवस्था करने के निर्देश दिए। बैठक में उप जिला निर्वाचन अधिकारी वीरेन्द्रसिंह चौधरी, जिला परिषद सीइओ पीएस नागा, सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियंता दिलीप परिहार, उप निदेशक कृषि विस्तार शंकराराम बेड़ा समेत कई अधिकारी मौजूद रहे।

पंचायत चुनाव : जोनल मजिस्टे्रट का प्रशिक्षण 15 को पाली में होगा
पंचायतीराज संस्थाओं के आम चुनाव निष्पक्ष एवं शांतिपूर्वक कराने के लिए जोनल मजिस्ट्रेट का प्रथम प्रशिक्षण 15 सितम्बर को प्रात: 10 बजे राजकीय विधि महाविद्यालय पाली में होगा।
अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट वीरेन्द्रसिंह चौधरी ने बताया कि जोनल मजिस्ट्रेट के नियुक्ति के संबंध में आदेश जारी कर संबंधित तहसील को भिजवा दिए गए है।

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned