VIDEO : यहां पैंथर ने गाय का किया शिकार, दहशत में ग्रामीण, वन विभाग ने लगाया पिंजरा

- ग्रामीणों की सूचना पर चेता था वन विभाग

By: Suresh Hemnani

Published: 17 Jun 2020, 12:59 PM IST

पाली/रोहट। पाली जिले के रोहट क्षेत्र के गाजनगढ़ माता मंदिर के निकट एक बार फिर पैंथर ने एक गाय का शिकार किया है। हालांकि वन विभाग ने पैंथर को पकडऩे के लिए पिंजरा लगाया है। लेकिन, पैंथर अब भी पकड़ से दूर है।

जानकारी के अनुसार रात को पैंथर ने हमला कर गाय का शिकार कर दिया। सुबह गाय को घसीटते हुए ले जा रहा था कि कुछ श्वान पैंथर के पीछे पड़ गए। इस पर पैंथर वहां से भाग छूटा, जिसे तो पैंथर को वहां से भागना पड़ा। इस घटनाक्रम को मानाराम ने देख लिया। सूचना पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और पिंजरा लगाया। साथ ही वहां से पैंथर के पगमार्क भी लिए हैं।

इसके फोटो लेकर जोधपुर में एक्सपर्ट डॉ श्रवण सिंह राठौड़ व डीएफओ मंगलसिंह को भेजे गए हैं। जिन्होंने स्वीकारा कि ये पगमार्क पैंथर के ही है। इस दौरान वन विभाग के रैंजर जवान सिंह, सहायक वन रक्षक सायर सिंह, भंवरसिंह, भीकदान, हरीश जीनगर, कुलदीप ङ्क्षसह, इन्द्रहिसंह, कुन्दनङ्क्षसह, गंगासिंह आदि मौजूद थे।

रोहट में वन्यजीव रैंज खोलने की गुहार
उपखंड मुख्यालय पर वन्य जीव रैंज खोलने की मांग को लेकर विश्नोई टाइगर फोर्स ने मुख्य वन संरक्षक अधिकारी जोधपुर को ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में बताया कि रोहट वन रैंज क्षेत्र लूणी रैंज के नजदीक है। पाली रैंज से करीब 40 किलोमीटर दूरी पर है। पाली रैंज से भी रोहट क्षेत्र में वन्य जीव का रेस्क्यू करके जोधपुर माचिया भेजा जाता है।

रोहट क्षेत्र में वर्ष 2018-19 में करीब 200 से अधिक वन्यजीव रेस्क्यू किए गए है। बताया कि रोहट में वन्य जीव रेस्क्यू सेंटर का निर्माण भी हो चुका है, लेकिन रेस्क्यू सुविधा उपलब्ध नहीं है। उन्होंने वन्यजीव रैंज खोलने की मांग की।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned