चोटिला स्कूल के पास दिखा पैंथर, पिंजरे की जगह बदली

रोहट. रोहट क्षेत्र के केरला-पीर दुल्हेशाह सहित आस-पास के गांवों में पिछले कई दिनों से पैंथर दिखने की घटना से आमजन में दहशत है। पैंथर को चोटिला स्कूल व फेकारिया के पास भी देखा गया है।

By: Satydev Upadhyay

Published: 23 Dec 2019, 02:29 AM IST

रोहट. रोहट क्षेत्र के केरला-पीर दुल्हेशाह सहित आस-पास के गांवों में पिछले कई दिनों से पैंथर दिखने की घटना से आमजन में दहशत है। पैंथर को चोटिला स्कूल व फेकारिया के पास भी देखा गया है। पाली शहर से मात्र बीस किलोमीटर दूरी पर पैंथर की आहट से वन विभाग भी हैरान है। उसे पकडऩे के लिए सर्च ऑपरेशन जारी है। फिलहाल उसका पता नहीं चल पाया है। पिंजरे की जगह अब बदली गई है। शनिवार रात 11 बजे पिंजरे को धर्मधारी के निकट गाजनगढ़ से चोटिला जाने वाले रास्ते केनिकट रखा गया। इसके बाद रविवार को इसे गाजनगढ़ के निकट एक नाडी के पास रखा।

खेतों में सिंचाई कर रहे किसानों में दहशत
इधर, पैंथर की आहट से आस-पास के ग्रामीणों, रात में खेतों की रखवाली करने वाले किसानों में दहशत है। लोग रात में घरों से बाहर निकलने से कतरा रहे हैं। रोहट क्षेत्र के चोटिला, केरला, बीठू, गाजनगढ़ सहित आस पास के गांवों में ग्रामीणों ने चने, गेहूं की फसलों की बुवाई कर रखी है।
रात में वन विभाग ने गश्त भी बढ़ाई है। वहीं सभी को सतर्क रहने के लिए कहा है। वन विभाग के रैंजर जवान सिंह, वन रक्षक कुन्दनसिंह, भीकदान, कुलदीपसिंह, श्यामसिंह, सज्जन सिंह, कामधेनू सेना के ललित पालीवाल ने शनिवार रात व रविवार को सर्च ऑपरेशन किया, लेकिन पता नहीं चला।

Satydev Upadhyay
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned