#PATRIKA CAMPAIGN : देर रात क्या हुआ गायों के साथ कि सब देखते रह गए

इंसानी जिंदगी के साथ ‘बेजुबानों’ को बचाने लोग गुरुवार रात 12 बजे सडक़ों पर बैठे मवेशियों के सिंगों पर रेडियम रिफ्लेक्टर लगाने निकल पड़े।

 

 

By: Rajkamal Ranjan

Published: 18 Aug 2017, 06:17 PM IST

पाली . मैं अकेला ही चला था जानिबे मंजिल मगर, लोग साथ आते गए और कारवां बनता गया। मजरूह सुल्तानपुरी की पंक्तियां अब पत्रिका की उस मुहिम पर सटीक बैठ रही है, जो इंसानी जिंदगियों के साथ ही बेजुबान मवेशियों की रक्षा के लिए शुरू की गई थी। धीरे-धीरे ये मुहिम अब रंग दिखाने लगी है। इसके चलते ही गुरुवार रात १२ बजे भी काफी संख्या में लोग बीच सडक़ों पर बैठे मवेशियों के सिंगों पर रेडियम रिफ्लेक्टर लगाने निकल पड़े।

दरअसल, राजस्थान पत्रिका के 13 अगस्त के अंक में ‘रात गहराने के साथ ही सडक़ों पर बढ़ता खतरा, इंसानी जिंदगी के साथ बेजुबानों पर भी संकट’ शीर्षक से समाचार प्रकाशित कर इस गंभीर मुद्दे को उजागर किया गया था। इसमें बताया गया था रात होते ही किस प्रकार ये मवेशी वाहन चालकों के लिए हादसे का सबब बन चुके हैं। इससे इंसानी जिंदगियों को तो खतरा पैदा हो ही रहा है, खुद मवेशियों की जान भी संकट में हैं। हालांकि, इसमें प्रशासनिक स्तर पर तो जाग नहीं हुई, लेकिन शहर के कुछ जागरूक लोगों ने जरूर इस दिशा में कदम बढ़ाया। इसका ही असर रहा कि पहले पार्षद किशोर सोमनानी के नेतृत्व में व्यापारियों ने मवेशियों के सिंगों पर रिफ्लेक्टर लगाने का काम शुरू किया। अब अन्य लोग भी इससे जुडऩे लगे हैं।

 

मवेशियों के कारण ही पिकअप पलटी

रामासिया के निकट पिकअप पलटने का गुरुवार को जो हादसा हुआ, उसमें भी मवेशी ही प्रमुख कारण है। इस हादसे में भी 16 जातरू घायल हो गए। पहले भी मवेशियों के कारण कई हादसे हो चुके हैं।

सडक़ों पर हादसे टालने आगे आए लोग

राजस्थान पत्रिका की पहल पर गुरुवार रात 12 बजे युवा कांग्रेस के लोकसभा महासचिव मनीष राठौड़ के नेतृत्व में शहर के कुछ जागरूक लोगों ने बेसहारा मवेशियों के सिंगों पर रेडियम रिफ्लेक्टर लगाने का बीड़ा उठाया। शहर के नया बस स्टैण्ड क्षेत्र में सडक़ों पर बैठे करीब 55 गोवंश के सिंगों पर रेडियम की पट्टियां लगाई गई। सडक़ों पर हादसे टालने की इस मुहिम में पिंटू मामा, आबिद, दिलदार, ललित भाटी, दानिश, इदरिश, मोहम्मद अजहरूद्दीन, फरहान, मो. शाहिद, आसिफ अंसारी, महेश परिहार, विजय देवड़ा, सुखदेवसिंह, जावेद, राजू, रमजान, फिरोज, शाहदत पठान सहित कई लोगों ने भागीदारी निभाई।

Rajkamal Ranjan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned