साहब! आर्थिक तंगी से टूट गए, अब दे दो राहत

-कई संगठनों के लोग पहुंचे कलक्ट्रेट, लगाई गुहार

By: Suresh Hemnani

Published: 23 May 2020, 12:33 PM IST

पाली। लॉकडाउन [ Lockdown ] शुरू होने को लेकर दो माह गुजर गए है। इस दौर में कई ऐसे लोग है, जिनको आर्थिक सहायता नहीं मिली। उनको रोजगार बंद हो गया। ऐसे में वे आर्थिक संकट [ Economic Crisis ] का सामना कर रहे हैं। हालात यहां तक पहुंच गए है कि कई लोगों के घर में चूल्हा तक बंद हो गया है। ऐसे ही कई लोग कलक्ट्रेट पहुंचे और जिला कलक्टर [ District Collector Anshdeep ] को सीएम अशोक गहलोत [ CM Ashok Gehlot ] के नाम ज्ञापन देकर गुहार लगाई कि या तो उनका काम शुरू करने दीजिए, नहीं तो कुछ मदद कीजिए। जिससे बच्चों के साथ उनका पेट भर सके।

पेन्टर बोले : संकट में निभाया साथ
पाली जिला पेन्टर/चित्रकार संघ की ओर से जिला कलक्टर को दिए ज्ञापन में बताया कि कोरोना संकट काल में पेन्टर व चित्रकारों ने प्रशासन व सरकार के सहयोग के लिए सडक़ों पर दीवारों पर जागरूकता जगाने वाली पेन्टिंग बनाकर सहयोग किया है। कोरोना काल में उनके सामने आर्थिक संकट होने पर भी उन्होंने निस्वार्थ भावना से नि:शुल्क कार्य किया। अब उनकी आर्थिक स्थिति बिगड़ गई है। इस कारण उनका सहयोग किया जाए। उन्होंने बताया कि कम्प्यूटर कार्य से भी उनकी कला के कद्रदान कम हो गए है। इस मौके जिलाध्यक्ष राजू प्रजापत, सह सचिव दिलीप शर्मा, कोषाध्यक्ष सुकेश कुमार, उपाध्यक्ष अनवर हुसैन, संगठन मंत्री अशोक जोशी आदि साथ थे।

ऑटो चालक : हमें मिले आर्थिक सहायता
थ्री व्हीलर ऑपरेटर संघ की ओर से जिला कलक्टर को दिए ज्ञापन में बताया गया कि लॉकडाउन में ऑटो बंद होने के बावजूद उनको आर्थिक सहायता नहीं मिली है। इससे सभी ऑटो चालक तंगी का सामना कर रहे है। उनको मात्र 300 राहत सामग्री के पैकेट दिए गए थे। जो ऊंट के मुंह में जीरे के बराबर है। संघ ने चालकों को 5 हजार रुपए आर्थिक सहायता देने तथा कफ्र्यू ग्रस्त क्षेत्रों के अलावा अन्य जगहों पर ऑटो चलाने की अनुमति मांगी। उनका कहना था कि ऑटो में कम से कम दो सवारी बैठाने की भी अनुमति मिलनी चाहिए। इस मौके अध्यक्ष अर्जुनसिंह चारण, महामंत्री सुनील चौहान, कोषाध्यक्ष देवीसिंह तंवर, उपाध्यक्ष कालू इंसाफ व सुरेश मौर्य आदि मौजूद थे।

लाइट व साउंड से जुड़े 15 हजार लोग बेरोजगार
पाली लाइट साउण्ड विकास समिति की ओर से सीएम गहलोत के नाम दिए ज्ञापन में बताया कि लाइट व साउण्ड व्यवसाय से करीब 15 हजार लोग जुड़े है। जो बेरोजगारी झेल रहे हैं। सामाजिक कार्यक्रमों के साथ विवाह नहीं होने के कारण बिजली मिस्त्री, हैल्पर, वाहन चालक, जनरेटर मैकेनिक आदि भी आर्थिक संकट का सामना कर रहे हैं। संघ ने इस व्यवसाय से जुड़े सभी सदस्यों को सहायता दिलाने का आग्रह किया। इस मौके अध्यक्ष तेजाराम चौधरी, सचिव कानाराम काराड़ी, कोषाध्यक्ष किशन प्रजापत, संरक्षक गिरधर गोपाल आदि मौजूद थे।

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned