साहब! मवेशियों के शव व कचरे के बीच कैसे रहें, आप रहकर दिखा दो.....पढे़ क्या है मामला

- विधायक व परिषद आयुक्त के आश्वासन के बाद मामला शांत

 

By: rajendra denok

Published: 16 May 2018, 02:52 PM IST

पाली. रामदेव रोड क्षेत्र की ढंड नाडी के निकट नगर परिषद की जमीन पर डाले जा रहे शहर के कचरे के विरोध में मंगलवार को आमजन का गुस्सा फूट पड़ा। उन्होंने पार्षद विनोद मोदी के नेतृत्व में तीन घंटे प्रदर्शन किया। साथ ही परिषद की कचरे से भरी गाडिय़ों को भी रोक दिया। मामला बिगड़ते देख विधायक ज्ञानचंद पारख व परिषद आयुक्त इन्द्रसिंह राठौड़ मौके पर पहुंचे, तो जनता ने उनको भी खरी-खरी सुनाई और विधायक व नगर परिषद सभापति के खिलाफ नारेबाजी की। उन्होंने आश्वासन देकर मामला शांत करवाया।

नहीं सुनी, आखिर फूटा गुस्सा

ढंड नाडी के निकट परिषद की ओर से अघोषित डम्पिंग यार्ड बना रखा है। क्षेत्रवासियों की माने तो परिषद यहां शहर का कचरा आए दिन डाल देता है। इससे आस-पास की बस्तियों में बदबू आती है। एक दिन पूर्व यहां आग भी लग गई थी, जिसे दमकलों में बमुश्किल काबू पाया था। मंगलवार सुबह दस बजे जब परिषद की गाडिय़ां फिर से कचरा डालने मौके पर पहुंची तो क्षेत्रवासी भड़क गए। उन्होंने गाडिय़ों को रोक दिया। पुलिस ने समझाइश का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं माने। सूचना पर विधायक पारख व परिषद आयुक्त राठौड़ मौके पर पहुंचे। विधायक व सभापति के खिलाफ लोगों ने नारेबाजी की। आयुक्त से महिलाओं ने कहा कि 'साहब, कचरे में मवेशियों के शव तक डाले जाते हैं, बदबू व कचरे के बीच कैसे रहे, आप एक दिन भी रहकर दिखा दोÓ माहौल गरमाने पर विधायक व आयुक्त ने यहां से कचरा हटाने व भविष्य में कचरा नहीं डालने का आश्वासन दिया। इसके बाद मामला दोपहर एक बजे शांत हुआ।

समझे माजरा-क्यों भड़की जनता और अब आगे क्या

- गत दिनों पांच मौखा पुलिया व खोडिय़ा बालाजी के निकट कचरा डालने से जनता विरोध कर चुकी है

- जब शहर के बाहर परिषद की जमीन खाली तो बीच शहर में कचरा क्यों डाल रहे हैं

- खेतावास के निकट कचरा निस्तारण केन्द्र का काम धीमी गति से चलने से समस्या बरकरार

- अब मंडिया रोड स्थित सीईटीपी के पास खाली गड्ढ़ों में कचरा डाला जाएगा

- परिषद की शहर के बाहर स्थित खाली जमीनों पर भी डाला जा सकता है कचरा

आए दिन परेशानी

नगर परिषद की जमीन पर डाले जा रहे शहर के कचरे में आए दिन आग लग जाती है। ऐसे में धुआं आसपास की बस्ती में रहने वाले मकानों में जाता है। जिससे क्षेत्रवासियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा है।

-विनोद मोदी, पार्षद

वैकल्पिक व्यवस्था की

मौके पर लोगों की मांग थी कि यहां कचरा नहीं डाला जाए। इस पर निर्णय किया गया है कि अब ढंड नाडी के निकट कचरा नहीं डाला जाएगा। जो कचरा पड़ा है, उसे मिट्टी डालकर डम्प किया जाएगा। जब तक खेतावास स्थित कचरा निस्तारण केन्द्र शुरू नहीं होगा, तब तक मंडिया रोड स्थित सीइटीपी के पास कचरा डाला जाएगा।

- इंद्र सिंह राठौड़, आयुक्त नगर परिषद, पाली।

rajendra denok Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned