VIDEO : खतरा टला नहीं है : ये गलती फिर ला सकती है तबाही, अभी संयम रखना बेहद जरूरी

-जिले के अनलॉक शुरू होते ही लापरवाही की हद पार
-बाजारों में कोविड गाइड लाइन को रख दिया गया ताक पर

By: Suresh Hemnani

Published: 10 Jun 2021, 08:01 AM IST

पाली। कोरोना का अनलॉक शुरू होने के पहले से ही चिकित्सक और मेडिकल के जानकार तीसरी लहर की आशंका जता रहे हैं। यह बात सभी लोग जानते हैं, लेकिन लापरवाही की हद पार करने से गुरेज नहीं कर रहे। जिन लोगों ने दूसरी लहर की भयावहता में अपनों को खोया है या खुद व परिजन मौत से लडकऱ जंग जीते हैं। वे तो सतर्क है, लेकिन दूसरे लोग कोरोना को हल्के में लेते हुए मास्क तक लगाने से गुरेज कर रहे हैं। उनको समझना होगा कि कोरोना अभी गया नहीं केवल लॉकडाउन के कारण चैन टूटी है। उसे पूरी तरह खत्म करने को अभी हमे संयम के साथ गाइड लाइन का पालन उसी तरह करना होगा। जैसा सख्त लॉकडाउन में करते आए हैं।

हर तरफ कर रहे अनदेखी
शहर ही नहीं जिले के बाजारों का भी ऐसा ही हाल है। कोरोना को लेकर अनदेखी की जा रही है। शहर के सबसे व्यस्त सूरजपोल चौराहे से सोमनाथ की तरफ आने वाला मार्ग हो या मिल गेट क्षेत्र सभी जगह पर लोग मनमाने तरीके से गुजर रहे है। मास्क लगाते भी है तो पुलिसकर्मी को देखकर। इसके अलावा उसे नाक के नीचे, ललाट पर या सिर पर सरका देते हैं। घरों में जाने पर भी कई लोग सेनेटाइजर या साबुन से हाथ धोने में कोताही बरत रहे हैं।

नजारा एक : सब्जी मण्डी व रामलीला मैदान
नई सब्जी मण्डी में सब्जी विक्रेताओं को जैसे कोरोना गाइड लाइन से कोई सरोकार ही नहीं है। वहां सब्जी विक्रेता बिना मास्क के ही ग्राहकों को बुलाने के लिए आवाज लगा रहे थे। सोशल डिस्टेंसिंग तो किसी जगह पर नहीं थी। हाथ सेनेटाइज करना तो बहुत दूर की बात है। मंडी में कुछ व्यापारियों के तो मुंह पर मास्क था ही नहीं।

नजारा दो : पुराना बस स्टैण्ड से धानमण्डी
पुराना बस स्टैण्ड से धानमण्डी पर हालात बेहद खराब रहे। पुराना बस स्टैण्ड पर ठेले वाले और खरीदारी करने पहुंचे लोगों ने मास्क का उपयोग करना उचित नहीं समझा। पुरानी सब्जी मण्डी में कैमरा देखकर बिना मास्क के बैठे एक दुकानदार ने कॉपी से मुंह ढका और फिर अन्दर भाग गया। धानमण्डी में ग्वालिनों के पास भी महिलाएं बिना मास्क बैठी रही।

नजारा तीन : घी का झण्डा से पानी दरवाजा
इस संकरी गलियों के बाजार में व्यापारी व ग्राहक सभी जैसे मान बैठे कि कोरोना खत्म हो गया है। अधिकांश ने मास्क मुंह पर ही नहीं लगाया। जिनके चेहरों पर मास्क थे, वे मुंह के नीचे लटक रहे थे। दुकानों पर सेनेटाइजर या हाथ धोने की भी कोई व्यवस्था नहीं थी। यहां भीड़ के कारण कई बार जाम लगा।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned