अपहरण व मारपीट के मामले में मौके पर गई पुलिस को पीटा, वीडियो वायरल, राजकार्य में बाधा पहुंचाने का मामला दर्ज

-पाली जिले के जैतारण थाना क्षेत्र के आगेवा गांव का मामला

By: Suresh Hemnani

Updated: 11 Jun 2021, 05:42 PM IST

पाली। जिले के जैतारण थाने के आगेवा गांव में शुक्रवार को एक युवक से मारपीट व अपहरण की सूचना पर मौके पर पहुंची जैतारण थाने के एएसआई सेठाराम सहित अन्य पुलिसकर्मियों से उलझ गए। लोगों ने उनसे गाली-गलौच की तथा पुलिस उन्हें जीप में बिठाने लगे तो एक महिला सहित दो युवक पुलिसकर्मी से मारपीट करने लगे। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

मामले में जैतारण थाने के एएसआई सेठाराम ने कुछ लोगों के खिलाफ राजकार्य में बाधा उत्पन्न करने, मारपीट करने एवं गाली-गलौच करने का मामला दर्ज कराया। मामले की जांच एएसआई शिवलाल कर रहे हैं। जैतारण पुलिस के अनुसार एएसआई सेठराम ने रिपोर्ट दी कि शुक्रवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे आगेवा में लडाई झगड़ा एवं एक लडक़े के अपहरण कर ले जाने की सूचना मिली। जिस पर वे कांस्टेबल संजय, मैनाराम, किशन के साथ आगेवा पटवार भवन के पीछे पहुंचे। जहां पर बावरी समाज के लोगों की भीड़ लगी थी।

आगेवा निवासी 19 वर्षीय अनिल पुत्र रामेश्वर मेवाड़ा को भीड़ ने नीचे बिठा रखा था। भीड़ में शामिल आगेवा निवासी सत्य नारायण पुत्र लालूराम बावरी व सहीराम पुत्र गोविन्दराम बावरी से मामले की जानकारी लेने लगे तो दोनों आवेश में आ गए। उन्होंने कहा कि अनिल ने दो दिन पहले समाज के गोविन्द की झूठी शिकायत की थी। जिस पर गोविंद को पुलिस गिरफ्तार कर ले गई थी। उनका कहना था कि अनिल व उसका भाई कपिल हमारे समाज के लोगों की झुठी शिकायत करते रहते है। दोनों से पुलिस ने समझाइश का प्रयास किया।

लेकिन सहीराम पुत्र गोविन्द राम बावरी, हापूराम पुत्र जगना बावरी, सांवरराम पुत्र हापूराम बावरी, सत्यनारायण पुत्र लालू राम बावरी, कालू राम पुत्र सताराम, गणपतराम पुत्र पन्नाराम बावरी, लक्ष्मण पुत्र नरसिंह राम बावरी, गोविन्दराम बावरी की पत्नी सहित 10-15 जनों ने आवेश में आकर पुलिस जाब्ते से उलझ गए। पुलिस जाब्ता के साथ गाली गलौच कर छीना छपटी करने लगे व पत्थर फेकंने लगे। पुलिस ने एएसआई की रिपोर्ट पर मामला दर्जकर जांच शुरू की।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned