सीबीआइ अधिकारी बन घूम रहा फर्जी आइपीएस पकड़ा, वर्दी, वॉकी-टॉकी व एयरगन बरामद

- दो साल से उठा रहा था फायदा, बस स्टैण्ड पर गिरफ्तार

By: Suresh Hemnani

Published: 03 Apr 2021, 08:49 AM IST

पाली। कोतवाली पुलिस ने नया बस स्टैण्ड पर सीबीआइ अधिकारी बनकर घूम रहे फर्जी आइपीएस युवक को गिरफ्तार किया। उसके कब्जे से सीबीआइ का फर्जी आइकार्ड, वॉकी-टॉकी हैण्डसैट, एयरगन, आइपीएस की वर्दी, बाइक सहित कई दस्तावेज बरामद किए हैं। वह पिछले दो साल से फर्जी अधिकारी बनकर होटलों व बसों में घूमता और वर्दी का गलत फायदा उठा रहा था। उसने यह कार्ड राजवीर शर्मा पुत्र रामप्रसाद शर्मा के नाम का बना रखा था। उसके मोबाइल में आइपीएस की वर्दी में कई फोटो भी मिले हैं।

रसद विभाग में अनुबंध पर चलाता कार, शौक लगा तो बना दिया फर्जी कार्ड
पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत ने बताया कि सर्वोदय नगर पाली निवासी फूसाराम पुत्र रामचंद्र भार्गव (26), नया बस स्टैण्ड पर एक निजी ट्रेवल्स ऑफिस पर टिकट करवाने आया। उसने खुद को सीबीआइ अधिकारी बताते हुए टिकट के रुपए कम करने को कहा और आइपीएस का कार्ड बताया। ट्रेवल्स कम्पनी के कर्मचारी को संदेह होने पर उसने नया बस स्टैण्ड पुलिस चौकी प्रभारी ओमप्रकाश को इत्तला दी। कोतवाली प्रभारी गौतम जैन व चौकी प्रभारी ओमप्रकाश मय जाप्ता ने फूसाराम को दस्तयाब कर पूछताछ की तो राज खुल गया। उससे फर्जी आइकार्ड व सामान मिला। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने बताया कि वह दो साल से फर्जी आइकार्ड का फायदा उठाकर होटलों में फ्री में रुकता और एसी बसों में निशुल्क यात्रा करता था। वह पूर्व में पाली रसद विभाग में अनुबंध पर कार चलाता था, उसके पास रसद विभाग का आईकार्ड भी मिला है। घूमने फिरने का शौक लगने पर उसने यह फर्जी कार्ड बनाया। आरोपी युवक का कहना है कि वह पाली की उम्मेद मिल में भी नौकरी कर चुका है।

पत्नी लगा चुकी है केस
पुलिस ने बताया कि फुसाराम की पत्नी ने उसके खिलाफ दहेज प्रताडऩा का केस लगा रखा है। उसके माता पिता पाली में रहते हैं।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned