VIDEO : मनोहर अपहरण मामला : राजपुरोहित समाज का सांकेतिक धरना-प्रदर्शन, सीबीआई से जांच की मांग

-जोधपुर संभाग के विभिन्न जिलों से सुमेरपुर पहुंचे राजपुरोहित समाजबंधु

By: Suresh Hemnani

Updated: 18 Mar 2021, 11:18 AM IST

पाली/सुमेरपुर। पाली जिले के सुमेरपुर क्षेत्र के नेतरा के मनोहर अपहरण मामले का साढ़े चार साल बाद भी राजफाश नहीं होने से आक्रोशित राजपुरोहित समाज ने बुधवार को सुमेरपुर में रैली निकाली। चार घंटे तक चले सांकेतिक धरना प्रदर्शन में वक्ताओं ने सरकार को जमकर कोसा। मामले की जांच सीबाआई से कराने की मांग उठाई। धरना-प्रदर्शन में पूरे जोधपुर संभाग से राजपुरोहित समाज के लोग शामिल हुए।

उन्होंने सीबीआई की मांग को लेकर समिति गठित करने व मांगे पूरी नहीं होने पर प्रदेशभर में धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी। रैली व धरना प्रदर्शन को देखते हुए जिले की आठ थाना पुलिस के अधिकारी व पुलिस जाब्ता मौके पर तैनात रहा। रैली व धरना प्रदर्शन शांतिपूर्ण निपटने पर प्रशासन ने राहत की सांस ली। धरना प्रदर्शन के बाद मुख्यमंत्री व राज्यपाल के नाम उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा।

रैली व धरना प्रदर्शन को लेकर सुबह 9 बजे से समाजबंधु नीलकंठ महादेव मंदिर पहुंचना शुरू हो गए। रैली स्थल के बाहर सडक़ व जवाई नदी में वाहनों की कतारें लग गई। बाड़मेर, चूरू व बीकानेर से भी बसों में सवार होकर समाजबंधु हाथों में तख्तियां लिए आयोजन स्थल पर पहुंचे। मंदिर परिसर के बाहर चौराहे व मुख्य द्वार पर युवाओं ने मानव श्रृंखला बनाकर मनोहर को न्याय दिलाने की शपथ ली।

समाज को कमजोर नहीं समझें सरकार
उपखण्ड कार्यालय के समीप महामंडलेश्वर निर्मलदास महाराज व कालन्द्री आश्रम के महंत देवानंद महाराज के सान्निध्य में सांकेतिक धरना प्रदर्शन किया गया। महाराष्ट्र सरकार के पूर्व कैबिनेट मंंत्री राज के पुरोहित, बालश्रम बोर्ड के पूर्व उपाध्यक्ष शिशुपालसिंह निम्बाड़ा, भाजपा पूर्व जिलाध्यक्ष करणसिंह नेतरा, कांग्रेस पूर्व जिलाध्यक्ष चुन्नीलाल चाड़वास, पूर्व विधायक गुलाबसिंह राजपुरोहित सुमेरपुर, शंकरसिंह राजपुरोहित, महावीरसिंह सुकरलाई, भाजपा युवा मोर्चा सिरोही जिलाध्यक्ष हेमंत पुरोहित, सिवाना प्रधान मुकनसिंह राजपुरोहित, सघर्ष समिति अध्यक्ष रामसिंह राडबर, रमेशसिंह बोया, नैनसिंह सांथू आदि ने संबोधित किया। वक्ताओं ने कहा कि कई प्रकार की जांच कमेटी बनाई। इसके बाद भी हल नहीं निकला। इसके लिए कमेटी का गठन कर सरकार से मिलकर मामले की जांच सीबीआई से करवाने की बात कही।

मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को सौंपा ज्ञापन
संतों के सान्निध्य में संघर्ष समिति व मनोहर के पिता प्रकाशकुमार राजपुरोहित की ओर से मुख्यमंत्री के नाम उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया। जिसमें बताया कि साढ़े चार माह बाद भी मनोहर के अपहरण मामले का खुलासा नहीं हो सका। जिससे परिजनों के साथ ही समाजबंधुओ में रोष बढ़ता जा रहा हैं।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned