सर्दी से रबी की फसलों को फायदा, किसानों के चेहरे खिले

-फसलों के लिए मौसम चल रहा अनुकूल

Rabi crops benefit from increasing winter in Pali :
-सर्दी कायम रही तो बढ़ेगी पैदावार

By: Suresh Hemnani

Published: 06 Jan 2020, 04:36 PM IST

पाली। rabi crops benefit from increasing winter in Pali : जिलेभर में इन दिनों सर्दी भले ही लोगों को धूजा रही हो, लेकिन खेतों में खड़ी फसलों के लिए तो ये वरदान साबित हो रही है। दिन के समय जहां चटक धूप खिल रही है तो रात के समय ये मौसम फसलों के लिए मुफीद बना हुआ है। रात का अधिकतम तापमान 18 से 22 डिग्री सेल्सियस और रात के समय न्यूनतम तापमान 4 से 5 डिग्री सेल्सियस तक बने रहने से उत्पादन बेहतर होगा। इससे किसान प्रफुल्लित है।

गेहूं के लिए वरदान
कृषि विभाग [ agriculture department ] के अधिकारियों के मुताबिक गेहूं की फसल [ wheat crop ] के लिए 4 से 6 डिग्री सेल्सियस तापमान डेढ़ माह तक बना रहना चाहिए। 15 फरवरी तक तापमान में ज्यादा बदलाव नहीं आता है तो बंपर पैदावार होगी। सर्दी से गेहूं की फसल की ग्रोथ पर अच्छा प्रभाव पड़ता है।

2 लाख 90 हजार हैक्टेयर में बुवाई
जिले में अच्छी बारिश होने के कारण इस बार रबी फसल बुवाई का लक्ष्य 2 लाख 44 हजार हैक्टेयर था। इसके मुकाबले में 2 लाख 90 हजार हैक्टेयर में रिकार्ड बुवाई हुई है। विभागीय अधिकारियों के मुताबिक गेहूं की 76 हजार 500, जौ की 7200, चना की 95 हजार, सरसों की 54 हजार 500, तारामीरा की 20 हजार 300, जीरा की 10 हजार 300, मैथी की 3900, ईसबगोल की 2750, सब्जी की 5150, लहसून की 171, धनिया की 108, सौंफ की 5290, रिजगा की 6050, मक्का की 166 तथा हरा चारा की 7853 हैक्टेयर में बुवाई हुई है।

फसलों के लिए मौसम अनुकूल
अभी फसलों के लिए मौसम अनुकूल चल रहा है। रबी फसलों के लिए ऐसा ही मौसम होना चाहिए। आगे भी ऐसा ही मौसम रहा तो इस बार अच्छा उत्पादन होने की उम्मीद है। -डॉ. मनोज अग्रवाल, सहायक निदेशक, कृषि विभाग विस्तार पाली

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned