बारिश से खेतों में भरा पानी, फसलें बर्बाद

-किसानों ने विशेष गिरदावरी की उठाई मांग

By: Suresh Hemnani

Updated: 07 Sep 2020, 09:01 AM IST

पाली/रोहट। जिले के रोहट उपखंड के चौराई क्षेत्र के गांवों में बारिश किसानों के लिए आफत बन गई है। यहां खेतों में पानी भर गया है, जिससे खेतों में खड़ी फसलें जलने लगी हैं। इससे किसानों को आर्थिक नुकसान की चिंता सता रही है। दरअसल, क्षेत्र के चेंडा, मांडावास व आसपास के गांवों में पिछले एक सप्ताह से लगातार तेज बारिश हो रही है। इससे खेतों में पानी भर गया है। पानी भरने से फसलें पानी में तैरने लग गई है।

चेहरों पर छायी मायूसी
रोहट क्षेत्र के चेंडा, मांडावास गांवों के खेतों में खड़ी फसलों से किसानों को अच्छे जमाने की आस जगी थी। लेकिन, पिछले कई दिनों से लगातार हो रही तेज बारिश के कारण खेतों में दो से तीन फीट पानी भर गया है। फसलें चौपट होने से किसानों के चेहरों पर मायूसी नजर आ रही है।

अच्छे जमाने की आस में किसानों ने की थी मूंग व तिल की बुवाई
चेंडा व मांडावास सहित आसपास के गांवों में किसानों ने अपने खेतों में मूंग, बाजरी, तिल, ज्वार की फसलों की बुवाई की थी। फसलें इस बार अच्छी भी हुई। लेकिन पिछले दिनों शुरू हुआ बारिश का दौर इन फसलों के लिए आफत बन गया। इससे काश्तकारों के मूंग की फसलें खराब हो गई है।

इनकी पीड़ा
रोहट चौराई क्षेत्र व चेंडा गांव के आसपास पिछले कई दिनों से लगातार तेज बारिश हो रही है। इस कारण किसानों के खेतों में पानी एकत्रित हो गया है। तिलहन की फसलें पूरी तरह से चौपट हो चुकी है। किसानों के लिए सरकार को विशेष गिरदावरी करवाकर मुआवजा देना चाहिए। इसके लिए मुख्यमंत्री व कलक्टर को पत्र भी भेजा है। - भगाराम पटेल, सरपंच चेंडा

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned