राजस्थान के व्यापारी का मलेशिया में मर्डर, फिराैती के पैसे देने से पहले ही उतारा माैत के घाट

फिराैती की रकम नहीं देने पर मलेशिया में बदमाशों ने राजस्थान के पाली जिले के एक व्यापारी का मर्डर कर दिया।

By: santosh

Published: 12 Nov 2017, 11:42 AM IST

जैतारण (पाली)। पाली जिले के तालकिया गांव का एक युवक, जो हैदराबाद में व्यापार करता था। मलेशिया व्यापार के सिलसिले में गया तो वहां बदमाशों ने बंधक बना लिया तथा फोन कर उनके परिजनों से फिरौती के रूप में 30 लाख रुपए मांगे।

 

हैदराबाद में करता था व्यापार
रुपए नहीं मिलने पर बदमाशों ने युवक की हत्या कर दी। घटना करीब तीन-चार दिन पहले की बताई जा रही है। अब परिजन युवक के शव को स्वदेश लाने की कवायद कर रहे हैं। जानकारी के अनुसार, पाली जिले के जैतारण थाना क्षेत्र के तालकिया गांव हाल हैदराबाद निवासी वासुदेव (28) पुत्र हजारीसिंह राजपुरोहित पिछले दस वर्षों से हैदराबाद में व्यापार कर रहा था। 28 अक्टूबर 2017 को वह अपने दो दोस्तों के साथ घूमने के लिए मलेशिया गया, जिनका तीन नवम्बर का रिटर्न टिकट बना हुआ था।

 

सोशल मीडिया के जरिए भेजी फोटो
वासुदेव का मलेशिया के कुआलालाम्पुर में बदमाशों ने अपहरण कर एक कमरे में बंधक बना लिया। इसकी सूचना उसके दोस्तों ने उसके परिजनों को भी दी। गत 4 नवम्बर को वासुदेव के फोन से उसके परिजनों को कॉल आया, इसमें बदमाशों ने 30 लाख रुपए की फरौती मांगी तथा नहीं देने पर उसकी हत्या की धमकी दी। बदमाशों ने वासुदेव के हाथ बंधे होने एवं गर्दन पर रखे चाकू की फोटो भी उन्हें सोशल मीडिया के जरिए भेजी।

 

फिरौती नहीं मिलने पर कर दी हत्या
बदमाशों ने मलेशिया के ही एक बैंक अकाउंट का नम्बर उन्हें भेजा। इसमें 30 लाख रुपए की राशि जमा कराने की बात कही गई। परिजनों ने आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए इतनी बड़ी रकम का नहीं होने की बात कही। जिस पर बदमाशों ने कहा कि वासुदेव इतने अच्छे कपड़े पहनता है तो फिर गरीब कैसे होगा। बदमाशों ने फिरौती की राशि कुछ कम की, लेकिन वासुदेव के परिजनों के पास मलेशिया बैंक अकाउंट की पर्याप्त जानकारी नहीं थी। ऐसे में वे बदमाशों के बताए गए अकाउंट में फरौती की राशि जमा नहीं करवा सके। इस पर बदमाशों ने वासुदेव की हत्या कर दी।

 

विदेश मंत्रालय से मांगी मदद
इधर, वासुदेव के भाई रामसिंह ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के सचिव से संपर्क किया। जिन्होंने मलेशया स्थित भारतीय दूतावास से सम्पर्क किया। मोबाइल के टॉवर लोकेशन के आधार पर मलेशिया की पुलिस घटना स्थल पर पहुंची। लेकिन उन्हें वासुदेव का शव मिला। भारत सरकार की मदद से मृतक के परिजन उसका शव स्वदेश लाने के लिए जुटे रहे।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned