पढे़ : कैसे दो बार डीपीआर होने के बावजूद भी अधूरा पड़ा है कार्य

Avinash Kewaliya

Publish: Dec, 07 2017 02:18:36 (IST)

Pali, Rajasthan, India
पढे़ : कैसे दो बार डीपीआर होने के बावजूद भी अधूरा पड़ा है कार्य

- शहर के व्यस्ततम नया गांव मार्ग का मामला - बुधवार को फिर इसी मार्ग पर हुए हादसे में एक व्यक्ति हुआ घायल

 

पाली.

शहर की सबसे व्यस्ततम सड़क में से एक नया गांव मार्ग को चौड़ा करने और दुर्घटना रहित मार्ग बनाने के लिए लोगों का जुड़ाव बढ़ता ही जा रहा है। इस सड़क को लेकर एक बात और सामने आई है। पिछले पांच साल में इस सड़क की दो बार डीपीआर बन चुकी है। दोनों बार काम भी शुरू हुआ, लेकिन बाद में इसे रोक दिया गया। इसी का परिणाम है कि बुधवार को एक और सड़क हादसे में एक युवक घायल हो गया।
नगर परिषद के पिछले कांग्रेस कार्यकाल में नया गांव सड़क को चौड़ा करने और दुर्घटना रहित बनाने के लिए दो बार डीपीआर बनी और कार्य भी शुरू हुआ। एक बार तो पुलिया निर्माण और डिवाइडर निर्माण हुआ। इसके साथ ही डब्ल्यूबीएम सड़क का कार्य भी शुरू हो गया। लेकिन कार्य अंजाम तक नहीं पहुंच पाया। इसके बाद पिछले बोर्ड के अंतिम दिनों में एक बार फिर टेंडर हुए। वर्तमान बोर्ड में इसका कार्य भी हुआ। लेकिन, सड़क को चौड़ी करने के लिए कुछ हद तक मिट्टी डालने के साथ ही यह कार्य भी रोक दिया गया। इसमें 800-800 मीटर की सड़क को दो चरणों में चौड़ा करने के लिए 50-50 लाख के टेंडर लगे थे।

बाइक को लिया चपेट में

इसी मार्ग पर बुधवार शाम को एक बाइक को एक तीन पहिया वाहन ने चपेट में ले लिया। बांगड़ कॉलेज के सामने हुए इस हादसे में बाइक सवार युवक घायल हो गया। गनीमत रही कि उस युवक के हेलमेट पहना हुआ था और इसी वजह से उसकी जान बच गई। इंद्रा कॉलोनी निवासी अंजुम भाई को स्थानीय व्यापारी बांगड़ अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां उसके पैर में फ्रेक्चर बताया गया। इस हादसे के बाद स्थानीय व्यापारियों का रोष एक बार फिर चौड़े आ गया।

दर्द फिर छलका

स्थानीय पार्षद किशोर सोमनानी ने बुधवार शाम को एक बार फिर इस सड़क पर हादसा देखा और घायल को तुरंत अस्पताल लेकर पहुंचे। वे लम्बे समय से इस सड़क के लिए संघर्ष कर रहे हैं। यूआईटी और नगर परिषद दोनों निकायों की ओर से इस मार्ग के लिए घोषणा की गई है। लेकिन, कोई ध्यान नहीं देता। पार्षद सोमनानी ने बताया कि यदि इस ओर निकायों ने ध्यान नहीं दिया तो वे उग्र आंदोलन के लिए मजबूर होंगे।

मुझे दो दिन के लिए काम देकर देखे

मेरे कार्यकाल में हमने शहर के चारों ओर की प्रमुख सड़कों को चौड़ा करने का काम शुरू करवाया था। जोधपुर रोड, सुमेरपुर रोड, मंडिया रोड और नया गांव रोड पर काफी हद तक काम हुआ। डिवाइडर लगाने और सर्किल बनाने जैसे कार्य चल रहे थे और हमारे बोर्ड के बाद वर्तमान बोर्ड ने इन कार्यों को ही रोक दिया। कार्य करने का मन होना चाहिए। बजट कभी काम में रोड़ा नहीं बनता। मुझे दो दिन के लिए काम देकर देखे, सबकुछ ठीक करवा दूंगा।

- केवलचंद गुलेच्छा, पूर्व सभापति, नगर परिषद पाली।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned