पाली : अपहरण कर एक करोड़ की फिरौती मांगने वाले हाई प्रोफाइल गिरोह का राजफाश

- चार आरोपी गिरफ्तार, चार फरार
- पाली जिले के सोजत क्षेत्र के सियाट में बिलाड़ा के युवक व उसके चालक का अपहरण कर फिरौती मांगने का मामला

By: Suresh Hemnani

Published: 28 Oct 2020, 12:44 PM IST

पाली/सोजत/सोजत रोड। पाली जिले के सोजत रोड थाना क्षेत्र के सियाट रोड पर गत 10 अक्टूबर को बिलाड़ा हाल शिव कॉलोनी सोजतरोड निवासी चैनाराम पुत्र छेलाराम पटेल कुमावत व उसकी कार के ड्राइवर पारस का बंदूक की नोंक पर अपहरण कर एक करोड़ रुपए की फिरौती मांगने व सात लाख रुपए एडवांस लेकर मेड़ता सिटी के पास छोडऩे की वारदात का पुलिस ने राजफाश कर दिया है। इस मामले में पुलिस ने चार शातिर आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जबकि गिरोह के चार अन्य आरोपी अब भी फरार है।

दो गाड़ियों में सवार होकर आए थे अपहर्ता
पुलिस अधीक्षक राहुल कोटोकी ने बताया कि चैनाराम ने पुलिस को रिपोर्ट दी थी कि वह दस अक्टूबर को कार से अपने ड्राइवर के साथ सोजत रोड आ रहा था। रात में सियाट के निकट लिलिया निवासी राजू ईनाणिया, तिलवासनी निवासी अशोक विश्नोई उर्फ एस्टल समेत दस जने दो गाडिय़ों में आए और उसकी कार के आगे गाडिय़ां लगा दी। उन्होंने उनकी कार पर तोडफ़ोड़ की और पिस्टल-चाकू दिखाकर उनका अपहरण कर मेड़ता सिटी ले गए, जहां सूनसान इलाके में उनको व परिवार को जान से मारने की धमकी देते हुए एक करोड़ रुपए की फिरौती मांगी। फिरौती की राशि 70 लाख रुपए तय हुई, एडवांस के रूप में उसने अपने मित्र मनीष से सात लाख रुपए दिलाए। इसके बाद उनको छोड़ा। पुलिस ने मामला दर्ज कर सीओ सोजत हेमंत जाखड़, सोजत सिटी थानाधिकारी रामेश्वरलाल भाटी व सोजत रोड थानाधिकारी सीमा जाखड़ के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया।

मुख्य आरोपी तमिलनाडू भागने की फिराक में था, हैदराबाद से पकड़ा
एसपी कोटोकी ने बताया कि आरोपियों की तलाश में पुलिस लगातार दबिश दे रही थी। आरोपियों ने अपनी लोकेशन छुपाने के लिए मोबाइल भी बंद कर दिए थे। इस बीच पुलिस को खबर मिली कि मुख्य आरोपी राजू उर्फ आतंक ट्रेन से तमिलनाडू जा सकता है। इस पर पुलिस बीट कांस्टेबल जगदीशचंद्र ने जयपुर रेलवे स्टेशन पर ईमित्र की दुकान से जानकारी ली तो पता चला कि वह हैदराबाद पहुंच चुका है। पुलिस उसकी तलाश में हैदराबाद पहुंची और उसे दबोचा।

एयरपोर्ट पर रोका, एसपी ने आंध्र पुलिस से मांगा सहयोग
आरोपी राजू को लेकर पुलिस पाली के लिए रवाना हुई तो एयरपोर्ट पर पाली पुलिस को रोक दिया गया। इस पर एसपी कोटोकी ने आंध्रा पुलिस ने सहयोग मांगा। पाली से अनुमति पत्र भेजने के बाद आरोपी को लेकर एयरपोर्ट से पुलिस रवाना हुई। इस मामले में पुलिस ने लिलिया निवासी राजू पुत्र माणराम जाट, डांगावास निवासी नृसिंह डांगा पुत्र पुखराज जाट, डांगावास निवासी सुरेंद्र कमेडिय़ा उर्फ गब्बर पुत्र केलाराम जाट व मेड़ता सिटी निवासी दीपक वैष्णव पुत्र कालूराम वैष्णव को गिरफ्तार किया है।

शातिर है आरोपी
आरोपी राजू के खिलाफ पूर्व में दो मामले दर्ज है। वह जोधपुर कमिश्नरेट में हनी ट्रेप के प्रकरण में गिरफ्तार हुआ था। इसमें 17 सितंबर को जमानत पर रिहा हुआ ही था। आरोपी नृसिंह डांगा के खिलाफ एक भी एक, दीपक के खिलाफ दो मामले दर्ज है।

यह चार आरोपी फरार
इस मामले में तिलवासनी बिलाड़ा निवासी अशोक विश्नोई उर्फ एस्टल, खारिया मीठापुर बिलाड़ा निवासी राकेश खटीक पुत्र गोपाराम, रेणी गेट मेड़ता निवासी विष्णु नायक पुत्र भीकाराम नायक व बीके विश्नोई फरार चल रहा है। उनकी तलाश जारी है। अशोक के खिलाफ दो मामले पहले से दर्ज है।

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned