यहां सोशल मीडिया पर फैली बच्चे चोरी की अफवाह, लोगों में दहशत का माहौल

यहां सोशल मीडिया पर फैली बच्चे चोरी की अफवाह, लोगों में दहशत का माहौल
यहां सोशल मीडिया पर फैली बच्चे चोरी की अफवाह, लोगों में दहशत का माहौल

Suresh Hemnani | Updated: 23 Aug 2019, 12:20:02 PM (IST) Pali, Pali, Rajasthan, India

पत्रिका अलर्ट : सोशल मीडिया का दुरुपयोग चिंताजनक, बिना पुष्टि वायरल नहीं करें मैसेज

Rumor of child theft in pali :
- घर से निकले तीन नाबालिग मुम्बई के लिए ट्रेन में बैठे
- सोशल मीडिया पर फैला दी बच्चे चोरी होने की अफवाह

पाली/बगड़ी नगर। Rumor of child theft in pali : घर से स्कूल के लिए निकले तीन स्कूली विद्यार्थी [ School student ] मुम्बई घूमने सोजतरोड स्टेशन [ Sojat Road Station ] से ट्रेन में बैठ गए। शाम तक बच्चे घर नहीं पहुंचे तो परिजनों ने बगड़ी नगर थाने में सूचना दी। इधर, सोशल मीडिया पर ये अफवाह वायरल [ Rumor viral ] होती रही कि बच्चा चोर गिरोह [ Gang of child thieves ] सक्रिय है।

हुआ यूं कि पिपलिया निवासी दो छात्र व बगड़ी नगर निवासी एक छात्र बगड़ी नगर स्थित स्कूल में साथ पढ़ते है। तीनों घर से स्कूल के लिए निकले लेकिन स्कूल जाने की बजाय सोजत रोड रेलवे स्टेशन पहुंच गए। वहां ट्रेन में बैठ गए। पुलिस पड़ताल में सामने आया कि तीनों नाबालिगों को साथ देख टीसी को शक हुआ। उसने बच्चों को ट्रेन से उतारा तथा घर जाने की बात कही। इतने में ट्रेन शुरू हो गई तो तीनों भागकर आरक्षित कोच में बैठ गए। इस पर अहमदाबाद रेलवे पुलिस को सूचना दी। उन्होंने ट्रेन अहमदाबाद पहुंचने पर तीनों छात्रों को ट्रेन में खोज कर अपने संरक्षण में लेने का आश्वासन दिया। इधर तीनों बच्चों के गायब होने को लेकर लोगों ने पुख्ता जानकारी के बिना ही सोशल मीडिया पर अफवाह फैला दी कि बच्चा चोर गिरोह इन दिनों गांवों में घूम रहा है और वे तीनों छात्रों को उठाकर ले गए। इससे पूरे गांव में दहशत फैल गई।

पंचांग से भविष्य बताने मुंडारा पहुंचे दो युवकों को समझा बच्चा चोर, ग्रामीणों ने पीछा कर पकड़ा

-पुलिस जांच में स्थानीय निकले युवक, कहा- मारपीट के डर से भागे

सादड़ी। मुंडारा गांव में बिना नम्बर की बाइक पर घूम रहे दो युवकों को ग्रामीणों ने पीछा कर पकड़ लिया और पुलिस को सौंप दिया। पुलिस जांच में दोनों युवक स्थानीय निकले। वे तो पंचांग से लोगों का हुआ यूं कि मुंडारा गांव में चामुण्डा माताजी सडक़ मार्ग चौधरियों के मोहल्लो में दो युवक बिना नम्बर की बाइक पर घूम रहे थे। सोशल मीडिया पर बच्चा चोर गिरोह के सक्रिय होने की अफवाह के चलते ग्रामीणों ने पूछताछ की। डर कर वे बाइक लेकर भागने लगे। ग्रामीणों ने पीछाकर दोनों को पकड़ा। सूचना पर लाटाड़ा चौकी पुलिस कांस्टेबल रघुवीर, मकसूद खान मौके पर पहुंचे तथा दोनों को सादड़ी थाने आए। पूछताछ में दोनों युवक सादड़ी थाना क्षेत्र निवासी निकले। वे गांव-गांव घूमकर पंचांग से लोगों का भविष्य बताकर अपनी आजीविका चलाते हैं। पुलिस ने उन्हें हिदायत देकर छोड़ दिया।

मानसिक विमंदित महिला को समझ लिया बच्चा चोर
सोजत रोड। कंटालिया गांव में एक विमंदित महिला भटकते हुए कृषि कुएं (बेरा बावलिया) पर पहुंच गई। उसके पास कुछ सामान भी था। महिला को ग्रामीणों ने बच्चा चोर समझ कर पकड़ लिया। इस दौरान कुछ युवकों ने उसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। इससे क्षेत्र में अफवाह फैल गई कि कंटालिया में बच्चा चोर महिला पकड़ी गई। सूचना पर कंटालिया चौकी से हैड कांस्टेबल लक्ष्मणलाल रेगर मयजाप्ता मौके पर पहुंचे। जांच में सामने आया कि महिला विमंदित है। उसके पास जो इंजेक्शन आदि मिले, वह उसने गांव से ही सडक़ किनारे पड़े नाकारा सामान में से एकत्रित किए। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों को अफवाह नहीं फैलाने तथा कोई भी संदिग्ध नजर आने पर पुलिस को सूचना देने की बात कही।

पत्रिका व्यू -संयम बरतें...अफवाह समाज के लिए घातक
सामाजिक परिवेश में सजगता जरूरी है, लेकिन अफवाहों को तूल दे देना कतई उचित नहीं है। सोशल मीडिया पर तो कुछ ऐसा ही हो रहा है। छोटी घटना को भी पहाडऩुमा बनाकर प्रचारित किया जा रहा है। सोशल मीडिया का ये जिन्न इन दिनों हमारे गांव-कस्बों में भी पहुंच चुका है, जो खूब दहशत फैला रहा है। हर संदिग्ध दिखने वाले युवक को बच्चा चोर साबित कर वायरल किया जा रहा है। क्या हममें इतना भी संयम नहीं है कि पहले पुष्टि कर लें? क्यों हम सोशल मीडिया पर अत्यधिक विश्वास कर रहे हैं? क्यों कानून हाथ में ले लेते हैं? यदि कोई संदिग्ध है तो पुलिस को सूचना दे सकते हैं। झूठी बनावटी कहानी बनाकर वायरल करना तो शोभा नहीं देता। जज्बातों पर काबू नहीं रख पाने और अफवाहों पर विश्वास करने के कारण ही मॉब लिंचिंग सरीखी घटनाएं हो रही हैं। ऐसे में जरूरत है  जागरूक नागरिक बनने की।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned