बावळे छोरो ने संगीत की दुनिया में खूब मचाया ‘धमाल’

-पाली के रैपिंग सिंगर संकल्प व संभव ने मंत्र व श्लोक गाकर रचा नया इतिहास

By: Suresh Hemnani

Published: 05 Apr 2021, 10:09 AM IST

पाली। रैपिंग सिंगर का नाम सुनते ही जेहन में आता है कुछ अजीबो-गरीब शब्दों के साथ गाए गए गाने, लेकिन पाली के दो छोरों ने इस मान्यता को पूरी तरह बदल दिया है। उन्होंने रैपिंग सिंगर के रूप में पहचान भी बनाई और राजस्थानी गीतों के साथ मंत्रों व श्लोकों का ऐसा गायन किया है कि हर कोई उनका कायल हो चुका है। टीवी पर अपने गायन का लोहा मनवाने वाले ये दो छोरे है पाली के जय नगर निवासी संकल्प व संभव शर्मा। उनकी गायकी की दीवानगी का अंदाज इस बात से लगाया जा सकता है कि उनका सोशल मीडिया पर वीडियो देखकर इंडिया गोट टैलेंट में उनको बिना ऑडिशन के ही एंट्री दी गई।

पिता पर लिखा व गाया पहला गाना
संकल्प व संभव दोनों भाई है। वे बताते हैं कि उनके पिता रामकिशोर शर्मा ने बचपन से घर में फौजी शासन (पाबंदियों वाला जीवन) लगा रखा था। समय पर उठना, खाना, पढऩा के साथ हर चीज सलीके से करने की हिदायत थी। जब वे एक बार दिल्ली डांस सीखने गए तो पंजाबी गायक हनीसिंह का गाना सूना और खुद गाना लिखकर गाने की सोची। वहां से लौटने पर पिता के फौजी शासन पर एक गाना लिखा और मां को सुनाया। यह पिता ने भी सुना और उनकी तारीफ की। इससे उनको हौसला बढ़ गया और फिर एक के बाद एक गाना लिखकर व फिल्मांकन कर सोशल मीडिया पर अपलोड करने लगे।

तत्कालीन सीएम ने की तारीफ
वे बताते हैं कि उन्होंने आपणो राजस्थान... गीत का लेखन व गायन किया। इसकी लॉङ्क्षन्चग तत्कालीन सीएम वसुंधराराजे ने की थी। इस गाने की उन्होंने तारीफ भी की। यही गाना सबसे अधिक हिट भी हुआ। इसके बाद उन्होंने अपने कंठस्थ किए श्लोकों व मंत्रों को भी गायन में शामिल किया। वे शिव तांडव स्रोत, महिषासुर मर्दिनी स्रोत, महालक्ष्मी अष्टम, भैरवाष्टकम, रुद्राष्टकम, मां दुर्गा के 32 नामावली स्रोत, विघ्नेश्वर स्रोत सहित कई धार्मिक स्रोत गा चुके है।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned