VIDEO : ढाई माह बाद खुले स्कूल, सफाई कर संभाला रेकर्ड

- जिले के स्कूलों में पहुंचे शिक्षक
- परिणाम के साथ अन्य तैयारियों को लेकर किया मंथन

By: Suresh Hemnani

Updated: 25 Jun 2020, 11:07 AM IST

पाली। जिले में मार्च माह में लॉकडाउन लगने के बाद से बंद सरकारी स्कूलों के दरवाजों पर लगा ताला आखिर बुधवार को खोला गया। स्कूल में साफ-सफाई कराने के बाद शिक्षकों ने नए सत्र को लेकर तैयारी शुरू की। इधर, कई शिक्षकों ने कक्षा एक से आठ तथा नवमीं व ग्यारहवीं कक्षा से क्रमोन्नत किए गए बच्चों के परिणाम तैयार करने को लेकर संस्था प्रधानों के साथ चर्चा की।

जिन माध्यमिक व उच्च माध्यमिक स्कूलों में बोर्ड परीक्षाएं चल रही है। वहां पर वीक्षकों के अतिरिक्त अन्य शिक्षकों को स्कूल की तैयारियों को लेकर जिम्मा सौंपा गया। परीक्षा में वीक्षक लगे शिक्षक बोर्ड परीक्षा के बाद परिणाम तैयार करने के साथ अन्य कार्य करेंगे। हालांकि कुछ शिक्षकों ने बोर्ड परीक्षा समाप्त होने के बाद अपनी कक्षाओं के लिए परिणाम तैयार करने के लिए कवायद शुरू की है।

एक जुलाई से पहले लानी होगी पुस्तकें
पाठ्य पुस्तक मण्डल की ओर से पुस्तकों को जिले में बनाए गए नोडल केन्द्रों तक पहुंचा दिया गया है। वहां से अब पुस्तकों को पीइइओ अपने स्कूल में ले जाएंगे। इसके बाद उनके अधीनस्थ स्कूलों में किताबों का वितरण किया जाएगा। पीइइओ के स्कूल से पुस्तकें लाने के लिए भी संस्था प्रधानों ने मशक्कत शुरू की। जिससे 1 जुलाई से सत्र प्रारम्भ होने पर विद्यार्थियों को जल्द से जल्द पुस्तकें देकर अध्ययन शुरू करवाया जा सके।

स्कूल सेनेटाइज कराने पर मंथन
कोरोना महामारी के संक्रमण को देखते हुए जिले के कई संस्था प्रधानों ने स्कूल भवनों को बच्चों के आने से पहले सेनेटाइज कराने पर मंथन किया। वहीं स्कूल में एक जुलाई से पहले सेनेटाइजर और साबुन से बच्चों के हाथ धुलवाने की भी व्यवस्था की जाएगी। इसके अलावा बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग से बैठाने की भी व्यवस्था की जाएगी। जिन स्कूलों में स्थान कम है। वहां विकल्प तलाशे जा रहे हैं।

शिविरा के अनुसार 1 जुलाई से आएंगे बच्चे
शिविरा पंचांग के अनुसार बच्चों को एक जुलाई से स्कूल आना है। इस सम्बन्ध में उच्च अधिकारियों व राज्य सरकार से अन्य आदेश मिलने पर उसके अनुसार कार्य किया जाएगा। शिक्षकों ने परिणाम आदि तैयार करने की कवायद शुरू कर दी है। बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग से बैठाने को लेकर भी व्यवस्था करने की कोशिश कर रहे हैं। -राजेन्द्र शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी, प्रारम्भिक, मुख्यालय, पाली

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned