VIDEO : माता को लगाया बासोडे का भोग, मांगी खुशहाली

-पाली के आदर्श नगर स्थित शीतला माता मंदिर में लगी महिलाओं की भीड़
-महिला पुलिसकर्मियों ने करवाई सोशल डिस्टेंसिंग की पालना

By: Suresh Hemnani

Published: 03 Apr 2021, 01:54 PM IST

पाली। शीतला सप्तमी पर महिलाओं ने शीतला माता को बासोडे का खुशहाली की कामना की। जिला कलक्टर की ओर से महिलाओं से मंदिरों में पूजा करने के बजाय घरों में पूजन करने की अपील की गई थी। मंदिरों में पूजन करने पर रोक भी लगाई गई थी। इसके बावजूद जिले के सभी शीतला माता मंदिरों में शुक्रवार रात 12:00 बजे से ही महिलाएं पूजन के लिए पहुंची। पाली के आदर्श नगर स्थित शीतला माता मंदिर में रात से लेकर दोपहर तक महिलाओं की कतार लगी रही। ऐसी ही स्थिति रामदेव रोड, पानी दरवाजा, गुलजार चौक, शिवाजी नगर, नया व पुराना हाउसिंग बोर्ड आदि क्षेत्र में स्थित शीतला माता के मंदिरों पर भीड़ देखने को मिली।

होली पर धुलण्डी के दिन गांवशाही गेर और उसके अगले दिन बादशाह के खर्ची बांटने की परम्परा इस बार कोरोना महामारी के कारण टूट गई थी। शनिवार को शीतला माता के दरबार में नगर परिषद की ओर से भरने वाला मेला भी स्थगित कर दिया गया। इसके साथ ही रविवार को सूरजपोल पर होने वाली गांवशाही गेर का आयोजन भी नहीं करने का निर्णय किया गया है। इधर, शनिवार को आदर्श नगर सहित रामदेव रोड, पुराना बस स्टैण्ड क्षेत्र, शिवाजी नगर, नया गांव आदि में शीतला माता का पूजन कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए करवाया गया। वहीं आदर्श नगर स्थित शीतला माता मंदिर के बाहर महिला पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था। जो कतार में महिलाओं को मंदिर में प्रवेश कराती नजर आई।

गेरिये साकार करते थे मारवाड़ी संस्कृति
आदर्श नगर शीतला माता के मंदिर पर शीतला सप्तमी पर भरने वाले मेले में शाम को अलग-अलग गांवों से आई गेरों के साथ समाजों की गेरे मारवाड़ की लोक संस्कृति के दर्शन करवाती थी। उन गेरों का नगर परिषद की ओर से गुड़ की भेली, झण्डा आदि देकर बहुमान किया जाता था।

पिछले वर्ष भी नगर परिषद ने नहीं किया था आयोजन
पिछले साल भी कोरोना के कारण नगर परिषद की ओर से मेले का आयोजन नहीं किया गया था। उस समय शहर के लोगों ने अपने स्तर पर ही मेला भरवाया था। उसमें गेरियों ने ठेठ मारवाड़ी अंदाज में नृत्य कर और गीत गाकर माता के दरबार में धोक लगाई थी। गेरियों का स्वागत भी शहरवासियों ने अपने स्तर पर किया था, लेकिन इस बार शहरवासी भी कोरोना के कारण ऐसा नहीं कर रहे है।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned