थानेदार ही करा रहा था चोरी, एसओपी की जांच में यूं हुआ खुलासा, थानेदार गिरफ्तार

क्रूड ऑयल चोरी का मामला

By: rajendra denok

Published: 05 Feb 2021, 12:20 AM IST

पाली. एसओजी ने पाली जिले में बगड़ी नगर थानान्तर्गत देवली हुल्ला गांव से निकलने वाली आइओसी की पाइप लाइन से क्रूड ऑयल चोरी करने के मामले में गुरुवार को बगड़ी नगर थानाधिकारी गोपाल बिश्नोई को गिरफ्तार किया। अब तक 14 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं। मध्यस्थ की भूमिका निभाने के संदेह में एक युवक समेत कुछ अन्य लोगों से हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। इस मामले में कई अन्य पुलिस अधिकारी और कार्मिक भी एसओजी की रडार पर है।

एसओजी के अनुसार प्रकरण में गैंग का सरगना रायपुर थानान्तर्गत हरिपुर निवासी सुखदेवसिंह पुत्र विरदरासिंह रावत, राजसमन्द जिले में देवगढ़ निवासी भगवानसिंह, देवली हुल्ला गांव निवासी खेत मालिक राजेन्द्रसिंह, गुजरात के सूरत निवासी टैंकर चालक आरीफ, कुन्दन मिश्रा उर्फ चदन, बड़ोदरा निवासी राकेश फ्रांसिस और जयेश रिमाण्ड पर है। इनसे पूछताछ चल रही है। इनसे मिले सुराग के आधार पर बगड़ी थानाधिकारी गोपाल बिश्नोई की भूमिका भी सामने आई। ऐसे में जालोर जिले के सांचौर थानान्तर्गत परावा गांव निवासी थानाधिकारी गोपाल बिश्नोई को भी गिरफ्तार किया गया।

पूरी साजिश में थानाधिकारी की सक्रिय भूमिका

#SOG का कहना है कि सुनियोजित साजिश से पाइप लाइन से क्रूड ऑयल चोरी कर बेचा जा रहा था। थानाधिकारी गोपाल बिश्नोई पूरी साजिश में सक्रिय रूप से शामिल थे। उसकी मिलीभगत से क्रूड ऑयल चोरी किया जा रहा था।

दो अन्य आरोपियों से पूछताछ
प्रकरण में 11 जनों को पाली पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इसके बाद पुलिस मुख्यालय ने जांच एसओजी को सौंपी दी थी। एसओजी ने बुधवार को गुजरात पुलिस की मदद से मूलत: यूपी में सुल्तानपुर हाल मुम्बई निवासी विनोद सिंह ठाकुर व मूलत: यूपी में प्रतापगढ़ हाल मुम्बई निवासी काशी प्रसादसिंह को गिरफ्तार किया था। इन पर चोरी का क्रूड ऑयल बेचने का आरोप है। एसओजी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमलसिंह के नेतृत्व में इनसे पूछताछ की जा रही है। तीन दिन पूर्व एसओजी के डीआईजी शरत कविराज भी मामले की जांच के लिए आए थे। एसओजी आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

rajendra denok Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned