scriptShraddha Aisi Bhi : Son built parents' temple in his farm | श्रद्धा ऐसी भी : बेटे ने अपने खेत में बनवाया माता-पिता का मंदिर | Patrika News

श्रद्धा ऐसी भी : बेटे ने अपने खेत में बनवाया माता-पिता का मंदिर

- जोजावर (पाली) के डिस्कॉमकर्मी गणपतसिंह ने माता-पिता का मंदिर बनाया

पाली

Published: May 17, 2022 10:05:16 pm

महेश चन्देल
धनला (पाली)। सतयुगी बेटों का जिक्र होते ही पौराणिक कहानियों के श्रवणकुमार का दृश्य स्मृति पटल पर आ जाता है। जिसने अपने नेत्रहीन माता-पिता को कावड़ में बिठाकर तीर्थयात्रा करवाई थी। श्रवणकुमार के संस्कारों का समावेश कलयुग में भी बिरले लोगों में आज भी देखने को मिल जाता हैं। आज के समय भी ऐसे लोग हैं जो अपने माता-पिता के लिए कुछ भी कर सकते हैं। राजस्थान के पाली जिले के मारवाड़ जंक्शन उपखंड के छोटे से गांव फुलाद में जन्मे हाल जोजावर में डिस्कॉमकर्मी के पद पर कार्यरत गणपतसिंह रावत राजपूत ने अपने गांव में माता-पिता के लिए एक मंदिर बनाकर उसमें मां-पिता की मूर्ति स्थापित की है। बता दें कि माता-पिता के लिए इनके मन में इतना प्यार है कि इस 49 वर्षीय बेटे ने अपने दिवंगत माता-पिता की याद में घर के सामने ही खेत में 5 गुणा 5 का 3 फीट ऊंचाई का चबूतरा और उस पर सुंदर नक्काशी 9 ऊंचाई तक छतरी बनाकर मंदिर का निर्माण कराया है। 15 मई 2022 को नवनिर्मित मंदिर में माता-पिता की मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा को लेकर क्षेत्र में अपने आप में एक अनोखा ²ष्टांत पेश करते हुए बेटे गणपतसिंह ने विधिवत मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा करवाई। पूर्व संध्या पर रात्रि जागरण और प्रतिष्ठा महोत्सव में पूरे गांव के लिए प्रसादी का आयोजन किया। गणपतसिंह अपनी पत्नी संगीतादेवी, दोनों पुत्र महेंद्रसिंह और उपेंद्रसिंह तथा दोनों पुत्र वधु सुशीला कंवर व कुसुम, परिवार के सदस्य और रिश्तेदारों सहित हवन में पूर्णाहुति दी। विधिवत नवनिर्मित मंदिर में माता-पिता की मूर्ति स्थापित करवाते हुए समाज में मां बाप के आदर और सम्मान का संदेश दिया।
श्रद्धा ऐसी भी : बेटे ने अपने खेत में बनवाया माता-पिता का मंदिर
श्रद्धा ऐसी भी : बेटे ने अपने खेत में बनवाया माता-पिता का मंदिर
माता-पिता ने खेती-बाड़ी कर हमारे जीवन को बेहतर बनाया

गणपतसिंह ने पत्रिका को बताया कि बचपन से लेकर माता पिता स्नेह की छांव में पले-बढे। माता-पिता ने हमारे जीवन को बेहतर बनाने के लिए गरीबी में भी कड़ी मेहनत की। पिता पूनमसिंह अहमदाबाद में कपड़ों की मिल में काम करते थे। मां ने गांव में खेती बाड़ी करते हुए हम लोगों को पढ़ाया और लायक बनाया। वर्ष 2016 में पिताजी देवलोक हो गए तथा वर्ष 2019 में माता नैना देवी का भी स्वर्गवास हो गया। मन में एक कसक थी कि सबकुछ मां-बाप का दिया हुआ है तो क्यों न मां-बाप की स्मृतियों को अमिट बनाया जाए। इससे आने वाली पीढ़ी को संस्कारों का संदेश दिया जा सके। मैंने अपने गांव में माता-पिता की याद में एक मंदिर बनाने का फैसला किया। परिवार और गांव वालों से चर्चा की तो उन्होंने खुशी जाहिर करते हुए हौसला बढ़ाया।
राजसमंद में कामला के मंदिर से मिली प्रेरणा

गणपतसिंह ने बताया कि आज से 12 वर्ष पूर्व राजसमंद के कामला में रिश्तेदारों के यहां इस प्रकार के आयोजन में सम्मिलित होने का मौका मिला। वहीं से प्रभावित होकर मन में ठान लिया। अन्य युवाओं को भी इस मंदिर से प्रेरणा मिलेगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में क्या बन रहे हैं नए सियासी समीकरण? बागी एकनाथ शिंदे ने राज ठाकरे से की फोन पर बातचीतMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र की सियासी लड़ाई सुप्रीम कोर्ट पहुंची, अयोग्य ठहराने के नोटिस पर शिंदे गुट की याचिका पर आज सुनवाईRajasthan Invest Summit : कांग्रेस शासित राजस्थान में 1.68 लाख करोड़ के निवेश की तैयारी में Rahul Gandhi के 'Double A'जम्मू कश्मीर: अमरनाथ यात्रा से पहले डोडा में पुलिस पर हमले की साजिश रच रहा लश्कर का आतंकी गिरफ्तार, चीनी पिस्तौल बरामदRam Nath Kovind Vrindavan Visit : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद वृंदावन पहुंचे, सीएम योगी ने किया स्वागत, जानें पूरा कार्यक्रमExclusive Interview: राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को किस आधार पर जीत की उम्मीद और क्या बोले आदिवासी महिला के खिलाफ उम्मीदवारी परराष्ट्रपति चुनाव: विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा आज नामांकन दाखिल करेंगेभारतीय टीम ने आयरलैंड को पहले टी-20 में 7 विकेट से रौंदा, हार्दिक पांड्या और दीपक हूडा का दमदार प्रदर्शन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.