पाली 38 डिग्री - 171 दिन बाद सबसे गर्म दिन, दोपहर में सडक़ों पर सन्नाटा

सूरज के भूमध्य रेखा पार कर कर्क रेखा की ओर बढऩे का असर

By: Om Prakash Tailor

Published: 29 Mar 2019, 02:08 PM IST

पाली। गर्मी की दस्तक के साथ ही तापमान 38 डिग्री तक पहुंच गया है। तापमान में एकदम से उछाल आने से लोगों की दिनचर्या पर भी असर पड़ा है। गर्मी से बचाव के लिए घरों में कूलर व पंखे शुरू कर दिए हैं, तो दोपहर में घरों से बाहर निकलने से भी कतराने लगे हैं। दरअसल, पिछले सप्ताह 21 मार्च को सूरज ने भूमध्य रेखा पार कर ली है। अब वह राजस्थान सहित मध्य भारत यानी कर्क रेखा की तरफ बढ़ रहा है। सूरज के आगे बढऩे के साथ ही गर्मी शुरू हो गई है। ये ही कारण रहा कि गुरुवार को पाली शहर का तापमान पिछले छह महीने बाद सर्वाधिक गर्म दिन रिकॉर्ड किया गया। शहर में दोपहर का तापमान 38 डिग्री तक पहुंच गया जो अक्टूबर के प्रथम सप्ताह के बाद सर्वाधिक है। मौसम विभाग के अनुसार बादलों की हल्की आवाजाही के साथ ही पारा बढऩे की संभावना है।
सूर्योदय का समय घट रहा
जब सूरज भूमध्य रेखा पर होता है तो तब दिन व रात लगभग बराबर होते है। पाली में भी इस समय लगभग 12 घंटे से कुछ अधिक देर तक सूरज की रोशनी आ रही है। सूर्योदय का समय लगातार घट रहा है और सूर्यास्त का समय बढ़ रहा है।
अक्टूबर माह में हुआ था ऐसा अहसा
शहर में गुरुवार को न्यूनतम तापमान 18 डिग्री रहा। सुबह सुहाना मौसम रहा, लेकिन दिन चढऩे के साथ ही सूरज ने आंखें तरेरना शुरू कर दिया। ज्यो-ज्यो सूरज क्षितिज पर चढ़ता जा रहा था। ज्यो-ज्यो थर्मामीटर में पारा उपर जा रहा था। इस सीजन में इससे पहले सर्वाधिक तापमान 171 दिन पहले सात अक्टूबर को 38 डिग्री रहा था।
उत्तरी गोलाद्र्ध में बसंत ऋतु का आगमन
सूरज छह महीने उत्तरी गोलाद्र्ध में रहता है और छह महीने दक्षिण गोलाद्र्ध में। मार्च और सितम्बर में वह पृथ्वी के मध्य यानी भूमध्य रेखा पर रहता है। तब दिन व रात बराबर होते है। भारतीय समयानुसार इस बार 21 मार्च अलसुबह ३ बजकर 28 मिनट पर सूरज भूमध्यरेखा पर पहुंचा। इसे मार्च इक्विनोक्स कहते है। इसी के साथ उत्तरी गोलाद्र्ध यानी भारत में बसंत ऋतु शुरू हो गई है और ऑस्टे्रलिया सहित दक्षिणी गोलाद्र्ध के अन्य हिस्सों में पतझड़ आ गया है। अब यहां से सूरज कर्क रेखा यानी उत्तरी गोलार्द की तरफ बढऩा शुरू हो गया है। कर्क रेखा राजस्थान के दक्षिण में बांसवाड़ा से गुजरती है। २२ जून को सूरज यहां पहुंच जाएगा, तब सर्वाधिक गर्मी होगी।

 

Om Prakash Tailor
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned