एसपी रावत की पाली पुलिस के अधिकारियों को दो टूक, कहा- पुलिस-अपराधियों में सांठ-गांठ बर्दाश्त नहीं

- छह घंटे तक ली पहली क्राइम बैठक, बेसिक पुलिसिंग पर जोर

By: Suresh Hemnani

Published: 14 Jan 2021, 09:25 AM IST

पाली। पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत ने पाली एसपी नियुक्त होने के बाद जिले के पुलिस अधिकारियों की पहली क्राइम मीटिंग ली। इस दौरान उन्होंने मणिहारी में हुई गैंगवार की घटना, सांडेराव में तस्करों द्वारा पुलिस पर फायरिंग की जैसी वारदातों को चुनौती बताया।

साथ ही पुलिस व अपराधियों में सांठ-गांठ बद्र्दाश्त नहीं करने की बात कही। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को सख्त रूप में कहा कि पाली मादक पदार्थों की तस्करी का रूट है, ऐसे में साफ छवि रखते हुए पुलिस को काम करना होगा, किसी भी स्तर पर लापरवाही बद्र्दाश्त नहीं की जाएगी। छह घंटे तक चली इस बैठक में एसपी ने बेसिक पुलिसिंग पर जोर दिया।

हर हाल में रुके तस्करी, मुखबिर तंत्र मजबूत करो
दोपहर में एसपी रावत ने जिले के पुलिस अधिकारियों व सभी थानाधिकारियों की बैठक ली। एसपी ने कहा कि पुलिस व अपराधिकारियों की सांठ-गांठ किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने हर कार्रवाई की सूचना पहले अधिकारियों को देने, मामले का निस्तारण, एनडीपीएस की कार्रवाई तेज करने, मुकदमों का निस्तारण, जनता व पुलिस के बीच अच्छे सम्बंध स्थापित करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि हर हाल में मादक पदार्थों की तस्करी रूकनी चाहिए। मुखबिर तंत्र को मजबूत करे, जनता का विश्वास पुलिस में बढऩा चाहिए। थानों में आमजन की सुनवाई हो, इसके लिए सभी थानाधिकारी ध्यान रखे। उन्होंने पुलिस के कामकाज की बारिकियां भी अधिकारियों को बताई। इस दौरान एएसपी तेजपाल सिंह, एएसपी ब्रजेश सोनी, सीओ निशांत भारद्वाज, सीओ हेमंत जाखड़, सीओ श्रवणदास संत, सीओ सुरेश कुमार, सीओ रजत विश्नोई सहित जिले के सभी थानाधिकारी मौजूद थे।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned