भ्रष्ट्राचार व वित्तीय अनियमितता को लेकर सुमेरपुर इओ आचार्य निलंबित

-आचार्य तखतगढ़वासियों की शिकायतों में पाया गया दोषी
-स्वायत्त शासन विभाग के निदेशक ने किया मुख्यालय पर उपस्थिति का दिए निर्देश

By: Suresh Hemnani

Published: 16 Sep 2020, 09:21 PM IST

पाली/पावा/सुमेरपुर। स्वायत्त शासन विभाग के निदेशक दीपक नंदी ने भ्रष्ट्राचार व वित्तीय अनियमितता को लेकर तखतगढ़वासियों की ओर से की गई अलग-अलग शिकायतों की जांच में तखतगढ़ के तात्कालिन इओ एवं वर्तमान सुमेरपुर इओ योगेश आचार्य को निलंबित किया गया है। निदेशक ने निलंबित इओ को अपनी उपस्थिति जयपुर मुख्यालय देने के निर्देश दिए है।

दरअसल, समीपवर्ती तखतगढ़ नगरपालिका मंडल के पूर्व सदस्यों ने बीते वर्ष नगरपालिका में करोड़ों की खरीदारी में भ्रष्ट्रचार एवं अनियमिता बरते जाने की पालिका बोर्ड के सदस्यों ने शिकायत की थी। शिकायत के बाद जांच करने क लिए स्थानीय निकाय विभाग के उप निदेशक दलवीरसिंह दढढ़़ा 30 जुलाई को तखतगढ़ नगरपालिका कार्यालय पहुंचकर जांच शुरु की। जांच में 8 अगस्त को अधिशासी अभयंता के सानिध्य में एक तकनीकी जांच टीम भी तखतगढ़ पहुंची।

स्थानीय निकाय विभाग के उप निदेशक दढढ़़ा ने जांच पत्रावली में आचार्य को दोषी ठहराया। जांच में दोषी पाए जाने पर स्वायत्त शासन विभाग के निदेशक नंदी ने राजस्थान सिविल सेवा नियम 1956 के नियम 13 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते सहायक प्रशासनिक हाल सुमेरपुर इओ योगेश आचार्य को निलंबित किया है।

विवादित रहा कार्याकाल
तात्कालिन इओ आचार्य का तखतगढ़ कार्याकाल काफी विवादित रहा। 14 फरवरी को तखतगढ़ का बाजार बंद रहा।बाद में उसे तखतगढ़ इओ के पद से हटाया गया।

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned