सुरेन्द्र ने छह माह में पकड़े 100 से अधिक सांप

-सांप को पकड़ सुरक्षित जंगल में छोडऩे में दक्ष
-पाली जिले के रायपुर क्षेत्र में बनी अलग पहचान

By: Suresh Hemnani

Published: 24 Aug 2020, 02:22 PM IST

पाली/रायपुर मारवाड़। सावन के महिने की शुरूआत से ही भोले के भक्त नागराज बिलों से निकल सेर करने चल पड़े थे। इससे क्षेत्र के गांवों व कस्बों में विविध प्रजाति के सांप का नजर आना आम हो चला है। इन सांपों को कोई आत्मरक्षा के लिए मार न दे,ये सोच 20साल का सुरेन्द्र उन सांपों को सुरक्षित पकड़ जंगल में छोडऩे का कार्य निस्वार्थ भाव से कर रहा है।

बर निवासी सुरेन्द्रसिंह रावणा सामान्य परिवार से जुड़ा है। इनके पिता बाबूसिंह सांखला मशीन ऑपरेटर हंै। सुरेन्द्र ब्यावर राजकीय महाविद्यालय में एमए फाइनल के विद्यार्थी हैं। बर में जिस मोहल्ले में ये रह रहे हैं वह जंगल से सटा हुुआ है। जिससे वहां आए दिन सांप पहुंच जाते हैं। उन सांपों को जब लोगों को लाठी से मारते देखा तो सुरेन्द्र ने ठान ली कि सांपों को पकड़ जंगल में सुरक्षित पहुंचाना है।

यूं बना दक्ष
सुरेन्द्र ने लोगों को सांप मारने से रोकना शुरू किया। सांप को सुरक्षित पकडऩे के लिए सुरेन्द्र ने छोटे सांप को पकडऩा शुरू किया। इस तरह जहन में डर खत्म होने के साथ सांप को जीवित पकडऩे का हुनर सीख लिया। सुरेन्द्र के अंदर सांपों के प्रति लगाव सा हो गया। जिससे बुक डिपो जाकर इंडियन स्नेक्स बुक खरीदी। जिसका अध्ययन करने से सुरेन्द्र को हर प्रजाति के सांप की बखुबी जानकारी हो गई।

सांप नजर आते ही जुबां पर एक ही नाम
सुरेन्द्र्र ने बीते छह माह में कोर्ट परिसर, स्कूल, चिकित्सालय, मकान, दुकान, कुआं, सार्वजनिक स्थल सहित विविध स्थानों से अब तक 100से भी अधिक सांप को जीवित पकड़ सुरक्षित जंगल में छोड़ा है। इनमें एक दर्जन से अधिक अजगर भी शामिल हैं। अब हालात ये कि क्षेत्र के किसी भी गांव में सांप नजर आता है तो हर जुबां पर सुरेन्द्र का नाम आ जाता है। सुरेन्द्र को सूचना मिलते ही वहां पहुंच सांप को पकड़ जंगल में छोड़ आता है। इस निस्वार्थ सेवा को लेकर भले ही प्रशासनिक स्तर पर सुरेन्द्र को सम्मानित नहीं किया गया हो लेकिन,जैतारण विधायक अविनाश गहलोत ने पिछले दिनों सुरेन्द्र का अपने स्तर पर बहुमान कर सेवा के जज्बे की सराहना की थी।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned