Teacher's Day 2020 : टपकती थी जिस विद्यालय की छत, आज निजी स्कूल को देता है मात

-50 लाख रुपए लगातार पलटी विद्यालय की काया
-नामांकन 350 से अधिक

By: Suresh Hemnani

Published: 05 Sep 2020, 11:20 AM IST

पाली। वर्ष 2015 में बांकली राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय। जिसकी छत टपकती थी। बरसात आने पर कमरों में विद्यार्थी बैठ नहीं पाते थे। लगता था कभी भी छत गिर सकती है, लेकिन आज हालात एकदम अलग है। विद्यालय का भवन ऐसा है, जो निजी स्कूल को भी मात देता है। यह हुआ इस स्कूल में वर्ष 2015 में ही नियुक्त हुए अध्यापक अनिल कुमार ओझा के प्रयासों से। उन्होंने विद्यालय भवन बनवाने वाले हजारीमल जवानमल कोठारी परिवार का पता लगाया। कोठारी की चौथी पीढ़ी के परिजनों से लगातार एक वर्ष तक सम्पर्क में रहे। आखिर उस परिवार ने 50 लाख रुपए से विद्यालय की काया ही पलट दी।

विद्यालय बन गया आधुनिक
निजी की तर्ज पर इस विद्यालय में प्रधानाध्यापक के बैठने की कुर्सी व टेबल लाई गई। दानदाताओं के सहयोग से विद्यार्थियों को लेपटॉप दिए गए। इसके साथ ही विद्यार्थियों के लिए यूनिफार्म और शिक्षण सामग्री की भी व्यवस्था करवाई गई। इसी का परिणाम है कि विद्यालय का नामांकन बढ़ा। नामांकन बढ़ाने में विद्यालय के वर्ष 2015 से 2017 तक 10 बोर्ड परीक्षा का परिणाम भी शत प्रतिशत रहा। विद्यालय में पौधरोपण किया गया। इसके लिए ट्यूबवेल भी खुदवाया गया।

मुख्यरूप से यह करवाए कार्य
-हर कक्ष में ग्रेनाइट का फर्श
-विद्यार्थियों के लिए फर्नीचर
-छात्राओं के लिए अलग शौचालय
-प्रधानाध्यापक कक्ष व पुस्तकालय
-विज्ञान की प्रयोगशाला
-स्कूल का मुख्य द्वार
-पानी की प्याऊ व वाटर कुलर
-ट्यूब वेल खुदवाया
-पूरे भवन का जीर्णोद्धार व रंगरोगन

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned