पानी का दबाव कम करने की तकनीक ईजाद की थी मिस्त्री ने

घरों के नलों में पानी के असमान दबाव की समस्या को खत्म करने का काम मिस्त्री ने 60 साल पहले ही कर

By: मुकेश शर्मा

Published: 15 Apr 2016, 11:46 PM IST

पाली।घरों के नलों में पानी के असमान दबाव की समस्या को खत्म करने का काम मिस्त्री ने 60 साल पहले ही कर दिया था। उन्होंने नल के पीछे लगने वाला एक एेसा उपकरण बनाया था जिससे पानी का दबाव एक लाइन में लगे सभी नलों में बराबर होता।


एक एेसी समस्या जिससे लोग सबसे ज्यादा त्रस्त थे, उसका समाधान जन वैज्ञानिक पी.एल मिस्त्री ने निकाला था। सरकारी लाइन से जब पानी आता था तो कई घरों में असमान दबाव के कारण पूरे पानी का उपयोग नहीं हो पाता था। एेसे में मिस्त्री ने एक एेसा मैकेनिकल डिवाइस बनाया जो नल के पीछे और पाइप के आगे लगती थी। जब पानी का दबाव अधिक होता तो यह सिकुड़ जाती और अतिरिक्त पानी को रोक देती थी। इस प्रकार से अतिरिक्त पानी उसी पाइप लाइन के दूसरे नलों में चला जाता था।

मानद उपाधि मिलनी चाहिए

 मैंने अपने यौवन काल में पीएल मिस्त्री के यहां कार्य सीखा। उनकी तीक्ष्ण बुद्धि उस जमाने में शायद किसी के पास हो। पीएल मिस्त्री को मानद उपाधि मिलनी चाहिए।
सोनाराम प्रजापत,मिस्त्री, टास्कावास तखतगढ़।

उनका कोई सानी नहीं

 पीएल मिस्त्री आविष्कार में अग्रणीय रहे हैं। उनकी इस धरोहर का देशभर में कोई सानी नहीं  है। उनको इंजीनियर की मानद उपाधि मिलनी चाहिए। उम्मेद सोलंकी, पूर्व उपाध्यक्ष, नगरपालिका तखतगढ़  

कई लोगों ने सराहा


उनके इस आविष्कार को आमजन के लिए काफी उपयोगी माना गया। इस आविष्कार का एक मॉडल अब भी तखतगढ़ में उनके म्यूजियम में रखा है।
मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned