VIDEO : सिकन्दराबाद-हिसार एक्सप्रेस ट्रेन के एसी कोच में हुई चोरी की वारदात, रेलवे स्टेशन पर यात्रियों का हंगामा

सिकन्दराबाद-हिसार स्पेशल ट्रेन के यात्रियों में दहशत : मारवाड़ जंक्शन रेलवे स्टेशन पर यात्रियों का हंगामा
- महिला यात्रियों से रुपए व आभूषण से भरे पर्स लूटे
- पीएमओ व रेल मंत्री को ट्वीट से जानकारी दी

By: Suresh Hemnani

Updated: 23 Jan 2021, 02:55 PM IST

पाली/सिरोही/मारवाड़ जंक्शन। आबूरोड के निकट बनास रेलवे स्टेशन पर सिकंदरापुर- हिसार एक्सप्रेस ट्रेन के एसी कोच में कुछ लुटेरों ने घुसकर यात्रियों को लूट लिया और चेन पुलिंग कर भाग गए। वारदात से आक्रोशित यात्रियों ने मारवाड़ जंक्शन रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार को जमकर हंगामा किया। आखिरकार यात्रियों को आर्थिक सहायता व समझाइश के बाद वे शांत हुए और ट्रेन रवाना की गई। इस दौरान करीब डेढ़ घंटे तक ट्रेन मारवाड़ जंक्शन स्टेशन पर खड़ी रही। इसके बाद यात्रियों ने जोधपुर रेलवे स्टेशन पर विरोध जताया।

महिलाओं को डरा-धमकाकर हैण्ड बैग-पर्स लूटे
आबूरोड व बनास के बीच सिकन्दराबाद-हिसार ट्रेन में सवार बदमाशों की गैंग सैकण्ड व थर्ड एसी और स्लीपर कोच में पहुंची, जहां सोए महिला यात्रियों को डरा-धमकाकर जगाया। उनके हैण्ड बैग व पर्स लूट लिए। जिनमें लाखों रुपए के जेवर व हजारों रुपए थे। सूचना पर जीआरपी की पुलिस अधीक्षक योगिता मीणा, अजमेर थाना प्रभारी सुशीला विश्नोई, स्टेशन अधीक्षक आरएल धवन, जीआरपी कार्यवाहक थानाप्रभारी भवानीसिंह, मारवाड़ जंक्शन थानाधिकारी गिरधर सिंह व जीआरपी और आरपीएफ पुलिस मौके पर पहुंची। उन्होंने यात्रियों से समझाइश की। मारवाड़ जंक्शन के जीआरपी थाने में मामला दर्ज कराया गया।

महिला यात्री ने पकड़ा तो धक्का देकर कूदा
जोधपुर की अर्चना चांडा का कहना है कि वह सेगांव में पीहर से नौ वर्षीय पुत्री देवांगी के साथ ट्रेन के एसी कोच से जोधपुर लौट रही थी। तडक़े 4.30 बजे आबूरोड व बनास के बीच बदमाश एसी कोच में घुसे और उसका हैण्ड बैग लूट लिया। जिसमें 40 हजार रुपए, सोने की ईयर रिंग व दो हाथ घड़ी थी। अर्चना ने लुटेरे का पीछा किया और कोच के दरवाजे के पास पकड़ भी लिया, लेकिन वह उसे धक्का देकर नीचे कूद गया।

कोच में कोई सुरक्षाकर्मी व अटैण्डर नहीं
रेणुका का कहना है कि वह मां के साथ महाराष्ट्र से जोधपुर आ रही थी। आबूरोड के पास बदमाशों ने ट्रेन में धावा बोल दिया और एसी कोच में घुसकर उसका बैग लूट लिया। जिसमें हजारों रुपए व अन्य कीमती सामान था। रेणुका ने पीछा कर लुटेरे को पकडऩे का प्रयास भी किया। वारदात के दौरान कोच में आरपीएफ या जीआरपी का कोई सुरक्षाकर्मी या अटैण्डर नहीं थे।

पत्नी बहुत घबरा गई थी, ट्वीट कर शिकायत की
विकास चांडा का कहना है कि पत्नी अर्चना व पुत्री देवांगी के साथ पीहर से जोधपुर आ रही थी। तडक़े 4.30 बजे पत्नी ने फोन कर सूचना दी। ट्रेन में कोई सुरक्षाकर्मी न होने पर पीएमओ व रेल मंत्री पीयूष गोयल को ट्वीट करके शिकायत की। साथ ही महापौर (दक्षिण) वनीता सेठ को अवगत करा कार्रवाई की मांग की। काफी देर बाद ट्वीट से हरकत में आए रेलवे प्रशासन ने मामले की जानकारी ली और कार्रवाई शुरू की।

पथराव से ट्रेन धीमी हुई तो कूदकर भागे
यात्रियों का कहना है कि लुटेरों की गैंग पहले से ट्रेन के अलग-अलग कोचों में सवार थी। इनके कुछ साथी रेलवे ट्रैक के पास झाडिय़ों में भी छुपे थे। लूटपाट के बाद झाडिय़ों से ट्रेन पर पथराव शुरू हो गया। कुछ कोच में मौजूद टीटीई व सुरक्षा कर्मचारी पथराव से घबरा गए और कोई कुछ नहीं कर पाया। पथराव से पायलट के ट्रेन धीरे करने का का फायदा उठाकर बदमाश चलती ट्रेन से नीचे कूद गए।

ये हुए लूट के शिकार
पुलिस ने बताया कि ट्रेन में बालोतरा निवासी ताराचंद पुत्र घेवरचंद, पाल रोड जोधपुर निवासी अर्चना चंदा पत्नी विकास, प्रताप नगर जोधपुर निवासी सैयद मुश्ताक हुसैन आबीदी पुत्र सैयद जहुरूल हसन, महाराष्ट्र निवासी विनोद कुमार पुत्र केवलचंद, सूरत निवासी पूजा, खाम गांव महाराष्ट्र निवासी रेणुका थानवी, नोखा बीकानेर निवासी ममता पत्नी पंकज वैध जैन के साथ लूट की वारदात हुई।

टीटीई को कोच में बंद करने की आशंका
यात्रियों का कहना है कि बदमाशों ने एक कोच के दरवाजे बंद कर टीटीई को बाहर निकलने नहीं दिया था। लुटेरों के भागने पर टीटीई को बाहर निकाला जा सका। इधर, जीआरपी जोधपुर के थानाधिकारी किशनसिंह का कहना है कि मारवाड़ जंक्शन के साथ ही जोधपुर जीआरपी ने भी टीमें बनाईं हैं।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned