शहर की सडक़ों पर भी मौत के ‘अवैध कट’, एक को खुश करने के लिए कई जिंदगियां दांव पर

- हाइवे ही नहीं, पाली शहर में भी अवैध कट से परेशान है जनता व पुलिस
- आए दिन हादसे, नगर परिषद की नहीं सुन रही पुलिस

By: Suresh Hemnani

Published: 05 Apr 2021, 09:22 AM IST

पाली। पाली शहर की सडक़ों पर भी अवैध कट से लगातार हादसे हो रहे हैं, इसकी परवाह किसी को नहीं है। शहर यातायात पुलिस इस समस्या के बारे में नगर परिषद को कई बार लिख चुकी है, बावजूद इसके नगर परिषद ने इन अवैध कट को बंद करने की दिशा में कोई काम नहीं किया। परिणाम यह है कि आए दिन इससे हादसे हो रहे हैं और लोगों की जान जा रही है। पाली शहर की सडक़ों पर 50 से अधिक अवैध कट है, इन्हें बंद क्यों नहीं किया जा रहा है, इसका जवाब नगर परिषद के पास भी नहीं है। पड़ताल में सामने आया है कि अवैध कट में मिलीभगत व रसूखात का खेल चलता है। नगर परिषद डिवाइडर का निर्माण करवाती है। डिवाइडर बनाते समय किसी प्रमुख व्यक्ति के प्रतिष्ठान के आगे कट रख दिया जाता है, ताकि उस व्यक्ति को आसानी हो सके। एक जने को खुश करने के लिए कइयों की जिंदगी दांव पर लगा दी जाती है।

हर जगह कट जरूरी नहीं, यह है नियम
शहर की सडक़ों पर मुख्य चौराहे से निकलने वाली सडक़ों पर बीच में डिवाइडर है। डिवाइडर के बीच कट का नियम है कि मुख्य सडक़ का रास्ता साइड की किसी अन्य मुख्य सडक़ से जुड़ता है तो वहां कट बनाया जाता है। इसके लिए वहां साइड बोर्ड, तीर का निशान या लाइट भी लगानी जरूरी है। लेकिन पाली शहर में ऐसा नहीं है। यह मन मुताबिक डिवाइडर के बीच अवैध कट बना दिए गए हैं।

शहर की मुख्य चौराहों पर अवैध कट
पाली शहर में सूरजपोल- मिलगेट रोड, मिलगेट-हाउसिंग बोर्ड रोड, नहर पुलिया-नया गांव रोड, नया बस स्टैण्ड-सर्कट हाउस रोड, पुराना बस स्टैण्ड-मंडिया रोड सडक़ पर अवैध कट की भरमार है। यहां पचास से अधिक अवैध कट है। इन्हें बंद नहीं किया जा रहा है। नगर परिषद आमजन की सुरक्षा पर ध्यान नहीं दे रही है।

नगर परिषद के पास जवाब नहीं
अवैध कट के बारे में नगर परिषद के पास जवाब नहीं है। नगर परिषद आयुक्त सहित अन्य अधिकारी इस सम्बंध में बात करने की स्थिति में नहीं है। अब ये कट कब बंद होंगे और कौन करेगा, इसका जवाब फिलहाल नगर परिषद के पास नहीं है। आमजन त्रस्त है।

बहुत परेशानी होती है
शहर की सडक़ों डिवाइडर के बीच अवैध कट से बहुत परेशानी होती है। आए दिन हादसे होते हैं, अवैध कट बंद करने के लिए कई बार नगर परिषद को लिखा, लेकिन काम नहीं हुआ। अवैध कट बंद करे तो हादसे कम हो सकते हैं। - निरमा विश्नोई, प्रभारी, शहर यातायात, पाली।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned