टिड्डियों का फिर कहर : फसलें चौपट, तबाही को देख भूमिपुत्र थाली बजाकर दौड़ रहे

-मारवाड़ क्षेत्र में किसानों को हुआ नुकसान

By: Suresh Hemnani

Published: 20 Jul 2020, 12:08 PM IST

पाली/रायपुर मारवाड़। जिले के रायपुर कस्बे सहित क्षेत्र के गांवों में एक बार फिर टिड्डी दल ने तबाही मचा दी। टिड्डी ने खेतों में खड़ी फसलें व सब्जी को चट कर दिया। किसानों ने टिड्डी को खदडऩे के लाख जतन किए, लेकिन कामयाबी नहीं मिल पाई। ऐसे में अपनी तबाही को देख किसानों की आंखों से आंसू निकल आए।

टिड्डी दल भारी तादाद में कस्बे में तबाही मचाने के लिए बर, रेलमगरा, झाला की चोकी, मालनी, सेंदड़ा सहित अन्य गांवों में पहुंच गया। खेतों में बड़ी संख्या में टिड्डी को फसले चट करते देख किसान खेतों की तरफ दौड़े। किसी ने थाली बजाई तो किसी ने आतिशबाजी की, लेकिन ये जतन काम नहीं आए। किसानों ने प्रशासन को भी सूचना दी। प्रशासन ने कृषि दल को मौके पर भी भेजा, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी।

सरकार को कोसते रहे किसान
किसानों ने कहा कि बीते दो माह में टिड्डी ने पांचवी बार हमला किया है। सरकारी तंत्र ने पुख्ता प्रबंध नहीं किए। इससे टिड्डी किसानों को भारी नुकसान पहुंचा गई। किसानों ने आरोप लगाया कि आज से पहले जिन किसानों के यहां टिड्डी ने तबाही मचाई थी वहां आज तक न तो सर्वे किया गया न ही किसी को आर्थिक मदद दी गई है।

चौराई पर आसमानी आफत, जहां बैठ रही टिड्डियां, वही कर रही प्रजनन
रोहट। रोहट क्षेत्र के अधिकांश गांवों में रविवार को भारी मात्रा में टिड्डी दल पहुंचा और फसलों को नुकसान पहुंचाया। इससे किसान चितिंत है, लेकिन कृषि विभाग बेपरवाह ही नजर आया। चिंता की बात तो ये है कि टिड्डी दल जहां बैठ रहा है, वहीं प्रजनन कर रहा है। इससे ज्यादा खतरा सता रहा है। लेकिन, किसानों के पास इन्हें भगाने के लिए ढोल, थाली ही है।

दरअसल, रविवार सुबह रोहट क्षेत्र के दिवान्दी, खुटाणी, मांडावास, मोरिया, गढ़वाड़ा, बांडाई, चोटिला, मुकनपुरा सहित कई गांवों में सुबह से शाम तक अलग-अलग दल में टिड्डी पहुंचे, जो दिन में खेतों में बैठ गई। करीब दो से तीन किलोमीटर लम्बा ये टिड्डी दल को भगाने में किसानों को खासी दिक्कत उठानी पड़ रही है। इधर, तहसीलदार खीमाराम देवड़ा ने बताया कि रोहट क्षेत्र के मांडावास खुंटाणी, दिवान्दी में शनिवार को टिड्डी दल पहुंचा था। रविवार को मुकनपुरा, बांडाई, मोरिया होते हुए टिड्डी दल सोनाईलाखा पहुंचा, जहां पड़ाव डाल दिया। इसको लेकर कृषि विभाग के उच्चाधिकारियों को बताया दिया है। लेकिन कृषि विभाग से कोई भी मौके पर नहीं पहुंचा है।

हाइवे पर टिड्डी दल का डेरा
पाली-जोधपुर राजमार्ग पर दोपहर को ओमबन्ना, बांडाई के निकट हाईवे पर भारी मात्रा में टिड्डी दल ने अपना डेरा डाल दिया। शाम को यहां से उड़ान भरकर चौराई क्षेत्र में चली गई।

इनकी जुबानी
रोहट क्षेत्र में टिड्डी दल आया है। जो एक टिड्डी दूसरी पर बैठकर जहां बैठती है, वहां अण्डे दे देती है। टिड्डी दल को लेकर कृषि विभाग के उच्चाधिकारियों से वार्ता की है। उनेक सुपरवाइजर फिल्ड में होने की बात कही। लेकिन हमें कहीं नजर नहीं आए। हमारी ओर से पटवारी की टीम तैयार है। - खीमाराम देवड़ा, तहसीलदार, रोहट

किसान थाली बजाते रहे
सोजत रोड। कस्बे व आस पास के क्षेत्र में हजारों की तादाद में टिड्डियों ने फसलों पर हमला कर दिया। क्षेत्र के किसान दिन भर थाली व पीपे बजाकर टिड्डियों को भगाने का प्रयास करते रहे। सोजत रोड, सियाट, दादिया व सेहवाज में खेतों को टिड्डियों ने अपना निशा‌‌ना बनाया। क्षेत्र में अचानक पहुंचे टिड्डियों के दल को देखकर किसान उनको भगाने के लिए हाथ में थाली व पीपे बजाते हुए खेतों में दौड़ते रहे। टिड्डियों ने खेतों में भारी नुकसान किया।

खड़ी फसलों को नुकसान
पिपलिया कला। गुडिय़ा गांव और आसपास के इलाकों में दोपहर में आए टिड्डी दल ने खेतों में खड़ी कपास व सब्जियों की फ सलों को तबाह कर दिया। यह टिड्डी दल बहुत ही बड़े दायरे में फैला हुआ था। किसानों ने खेतों में जाकर थाली बजाकर उनको भगाने का प्रयत्न किया।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned