घर से निकला बालक हौद में डूबा, दूसरे ने खेल-खेल में बालकनी में बिजली लाइन को छूआ, करंट से मौत

- पाली में दो घटनाएं, दो बालकों की मौत, अस्पताल में प्रदर्शन

By: Suresh Hemnani

Published: 25 Sep 2021, 11:18 PM IST

पाली। शहर के बजरंग बाड़ी क्षेत्र में शनिवार शाम बालकनी में खड़े एक बालक ने खेल-खेल में बिजली लाइन को छू लिया, इससे करंट लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद मृतक बालक को बांगड़ अस्पताल स्थित ट्रोमा सेंटर में लाया गया। इस दौरान अस्पताल परिसर में बालक के परिजनों के साथ अन्य लोग भी बड़ी संख्या में जमा हो गए। यहां परिजनों ने डिस्कॉम पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया। इधर, केशव नगर में घर से निकले बालक का शव एक हौद में मिला। शव परिजनों को सौंप दिया गया।

करंट लील गया, परिजनों का प्रदर्शन
जानकारी के अनुसार बजरंग बाड़़ी निवासी जीतू (12) पुत्र मदनलाल बंजारा, जो अपने घर की बालकनी में खड़ा था। इस दौरान वहां से गुजर रही बिजली की तारों की चपेट में आने से उसे करंट लग गया। उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद वहां जमा कुछ युवकों ने बालक को बाइक पर बिठाकर बांगड़ अस्पताल स्थित ट्रोमा सेंटर पहुंचाया। जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत बताया। इसके बाद बड़ी संख्या में परिजन अन्य लोग भी बांगड़ अस्पताल में पहुंच गए। इस दौरान महिलाएं बिलखती हुई नजर आई। उसका शव मोर्चरी में रखवाया गया है।

आगे आए युवक, पर बचा नहीं पाए
जो युवक बालक को अस्पताल लेकर आए, वे वहां नहीं रहते हैं, वे रास्ते से गुजर रहे थे, इस दौरान उन्होंने हादसा देखा तो वे मानवता के नाते तुरंत उसे अस्पताल लेकर पहुंच गए। हालांकि वे बालक को नहीं बचा पाए। परिजनों ने अस्पताल में प्रदर्शन किया और डिस्कॉम से मुआवजा मांगते हुए लापरवाही का आरोप लगाया। देर रात तक समझाइश जारी थी।

घर से निकला, शव मिला निर्माणाधीन मकान के हौद में
बस स्टैण्ड पुलिस चौकी प्रभारी ओमप्रकाश चौधरी ने बताया कि केशव नगर निवासी छह वर्षीय बालक हार्दिक पुत्र नारायण मेघवाल शाम चार बजे घर से बिना बताए निकल गया। उसकी मां ने उसकी तलाश की तो वह नहीं मिला। रात करीब आठ बजे उसका शव केशव नगर में ही निर्माणाधीन मकान के पानी के हौद में मिला। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। शव परिजनों को सौंप दिया गया। हार्दिक के पिता का निधन हो चुका है। वे पुलिसकर्मी थी। हार्दिक की मां पुलिस अधीक्षक कार्यलय में तैनात है। परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned