कोरोना में भी कालाबाजारी : 50 से 70 हजार में बेच रहे थे रेमडेसिविर इंजेक्शन, दो जने गिरफ्तार

- शिवगंज में स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप, थाना पुलिस और जिला औषधि नियंत्रण विभाग की संयुक्त कार्रवाई
- दोनों आरोपियों को एसओजी टीम ले गई जयपुर

By: Suresh Hemnani

Published: 02 May 2021, 03:59 PM IST

सिरोही/शिवगंज। कोरोना महामारी के दौरान कोरोना संक्रमित गंभीर रोगी के लिए जीवन रक्षक रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी को लेकर मिल रही शिकायतों के बीच शनिवार को स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप, स्थानीय थाना पुलिस और जिला औषधि नियंत्रण विभाग ने संयुक्त कार्रवाई कर दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। ये व्यक्ति 4 हजार 800 रुपए की कीमत के इंजेक्शन को 50 से 70 हजार रुपए में बेच रहे थे। एसओजी दोनों आरोपियों को जयपुर ले गई है।

जानकारी के अनुसार कोरोना संक्रमित गंभीर रोगी को लगने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी को लेकर निरंतर शिकायतें मिल रही थीं। सूचना मिली कि स्थानीय विक्रेता विनस मेडिकोज की ओर से इस इंजेक्शन को 50 से 70 हजार रुपए में बेचा जा रहा है। एसओजी यूनिट जोधपुर के पुलिस निरीक्षक जब्बरसिंह चारण ने बताया कि शिकायत पर दो दिन से एसओजी की टीम ने क्षेत्र में डेरा डाले रखा था। टीम ने यहां पहुंचने के बाद विनस मेडिकोज के मालिक क्षितीज मेवाड़ा के नंबर लिए और बोगस ग्राहक बनकर रेमडेसिविर इंजेक्शन के लिए बात की तो उन्होंने उनको व्हाट्सएप्प नंबर दिए। व्हॉटस एप पर चेट के दौरान एक इंजेक्शन 50 हजार रुपए में देना तय हुआ।

हालांकि, इंजेक्शन 50 हजार में तय होने के बाद भी आरोपी क्षितीज मेवाडा उन्हें दो दिन तक इधर उधर की बातों में उलझाए रखा। आखिरकार शनिवार को आठ इंजेक्शन देने के लिए तैयार हो गया। शनिवार की दोपहर करीब ढाई बजे जैसे ही बोगस ग्राहक इंजेक्शन लेने के लिए तय जगह पर पहुंचा और पैकेट थमाते ही एसओजी की टीम ने स्थानीय पुलिस के सहयोग से क्षितीज मेवाडा पुत्र ओपी मेवाडा तथा उसके साथी प्रवीण मीना पुत्र नारायणलाल मीना दोनों निवासी शिवगंज को दबोच लिया।

...और भी लोग शामिल
पुलिस निरीक्षक चारण ने बताया कि एसओजी की टीम दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है। उन्होंने बताया कि इस धंधे में शामिल और भी लोगों की टीम शीघ्र ही गिरफ्तारी करेगी। इधर, जिला औषधि नियंत्रण अधिकारी पुष्पा ने बताया कि विभाग को पिछले लंबे समय से शिवगंज में रेमडेसिविर इंजेक्शनकी कालाबाजारी होने की जानकारी मिल रही थी। एसओजी की टीम ने मौके से आठ इंजेक्शन बरामद किए हैं। कार्रवाई के दौरान एसओजी के धर्मेन्द्र व रामकिशन भी साथ में थे।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned