VIDEO : सावधान : अब अगर रंगीन पानी डिस्चार्ज किया तो गिरेगी गाज, अवैध मशीन होगी सीज

Suresh Hemnani

Updated: 08 May 2019, 02:37:53 PM (IST)

Pali, Pali, Rajasthan, India

पाली। प्रदूषण का दंश झेल रही कपड़ा नगरी में अब एनजीटी के निर्देशों की पालना में प्रदूषण नियंत्रण मंडल ने भी सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। अब किसी कपड़ा फैक्ट्री से रंगीन पानी बिना प्राइमरी ट्रीटमेंट के डिस्चार्ज किया जाता मिला तो उसके खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इसके लिए प्रदूषण नियंत्रण मंडल ने कार्ययोजना तैयार कर दी है। जल्द ही फैक्ट्रियों की जांच की जाएगी।

प्रदूषण नियंत्रण मंडल के आरओ अमित शर्मा ने बताया कि एनजीटी से जारी निदेशों के तहत 50 केएलडी तक पानी डिस्चार्ज करने वाली इकाइयों में रंगीन पानी को प्राइमरी ट्रीटमेंट करने की व्यवस्था है या नहीं इसकी जांच करेगे। जिन इकाइयों में रंगीन पानी को प्राइमरी ट्रीटमेंट करने की व्यवस्था नहीं होगी। उनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने बताया कि जल्द ही इसको लेकर फैक्ट्रियों की जांच का कार्य शुरू किया जाएगा।

बिना रजिस्टे्रशन चल रही मशीन होगी सीज
औद्योगिक इकाइयों में बिना रजिस्टे्रशन के चल रही मशीनों को सीज करने की कार्रवाई प्रदूषण नियंत्रण मंडल की ओर से आगे भी जारी रहेगी। आरओ अमित शर्मा ने बताया कि फैक्ट्रियों की औचक जांच की कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी। जिन फैक्ट्रियों में बिना रजिस्ट्रेशन के मशीनें संचालित मिलेगी, उन्हें सीज किया जाएगा। ज्ञात रहे कि छह मई को पार्षद अयूब गुडलक की फैक्ट्री की जांच में प्रदूषण नियंत्रण मंडल को दो मशीनें बिना रजिस्ट्रेशन के संचालित होती मिली। इन मशीनों से करीब 20 केएलडी पानी डिस्चार्ज होता था। दोनों मशीनों को प्रदूषण नियंत्रण मंडल पाली की टीम ने सीज कर लिया था।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned