VIDEO : water crisis : यहां मानसून की बेरुखी से मंडराता जल संकट, अब जोधपुर से पाली आएगी वाटर ट्रेन

Suresh Hemnani

Updated: 17 Jul 2019, 05:04:46 PM (IST)

Pali, Pali, Rajasthan, India

पाली/जैतारण। मानसून की बेरुखी [ Monsoon rain ] के चलते उपखण्ड क्षेत्र में जलसंकट [ Drinking water crisis ] खड़ा हो गया है। जवाई बांध पेयजल पाइप लाइन परियोजना [ jawai dam Drinking Water Project ] से मिलने वाले पानी में भी कमी होगी। ऐसे में प्रशासन ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में सभी तक पेयजल पहुंचाने की कवायद में जुटा है।

स्थानीय स्तर पर जलस्तर गहरा जाने व भूगर्भ में लोराइडयुक्त पानी होने के कारण शहर सहित क्षेत्र के 125 गांवों को मीठा पानी पहुंचाने के लिए जवाई परियोजना का शुभारम्भ 2017 को 315 करोड़ की लागत से शुरू की गई। लेकिन प्रस्तावित गांवों मे जवाई का पानी पहुंचने से पहले ही जवाई बांध खाली हो जाने के कारण जनता की आस अधूरी रह गई। अब तक जैतारण शहर सहित 29 गांवों में जलापूर्ति [ water supply ] की जा रही थी।

रास सहित करीब 55 गांवों में पानी पहुंचाने की टेस्टिंग हो चुकी है, लेकिन जवाई बांध [ jawai dam in pali ] खाली होने से यहां के लोगों को पीने के पानी के लिए अब टैंकरों पर निर्भर रहना पड़ेगा। इधर, जलदाय विभाग [ water Department ] के पास स्थानीय स्रोत नगण्य होने के कारण अब 41 गांवों व 115 ढाणियों में प्रतिदिन 217 टैंकरों से 1188 केएल. पानी जलापूर्ति का प्रयास किया जाएगा।

शहर में 96 घण्टों से जलापूर्ति
जवाई बांध में पानी नहीं होने के कारण जैतारण में जलापूर्ति नहीं होने के कारण शहरवासियों को स्थानीय स्रोत से करीब 96 घण्टे में जलापूर्ति संभव हो सकेगी। वहीं अब 41 गांवों व 115 ढाणियों में 217 टैंकरों से 1188 केएल. नियमित पानी देने का प्रयास किया जाएगा। -राजेश जयसवाल, सहायक अभियंता, जलदाय विभाग, जैतारण

पेयजल संकट से निपटने में जुटा विभाग
एईएन केदारलाल गुप्ता ने बताया कि शहरी क्षेत्र में 71 हैण्डपम्प व ग्रामीण क्षेत्र में 814 हैण्डपम्प चालू स्थिति में हैं। धंधेड़ी व सरदारपुरा में नए नलकूप की स्वीकृति लाने की भी तैयारियां की जा रही है। गुप्ता ने बताया कि शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में पेयजल संकट से निपटने के लिए नए प्लान की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। एक्सईएन भोमाराम कुमावत ने बताया कि संकट के दौरान जोधपुर से पाली पानी की वाटर ट्रेन आएगी। वहां से भी सोजत के लिए आवश्यकता पडऩे पर पेयजल की व्यवस्था की जाएगी।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned