वसुंधरा सरकार के विरोध में उतरे इस गांव ने मांगे पूरी न होने पर दे दी है यह बडी चेतावनी.....यहां पढे़ क्या है मामला

rajendra denok

Publish: Jun, 14 2018 01:53:32 PM (IST)

Pali, Rajasthan, India
वसुंधरा सरकार के विरोध में उतरे इस गांव ने मांगे पूरी न होने पर दे दी है यह बडी चेतावनी.....यहां पढे़ क्या है मामला

बांता गांव में शिविर का बहिष्कार, ग्रामीण बोले मांगे पूरी नहीं हुई तो करेंगे चुनाव का भी बहिष्कार

 

पांचेटिया/आऊवा. बांता गांव में बुधवार को न्याय आपके द्वार के तहत राजस्व लोक अदालत का आयोजन अटल सेवा केंद्र पर किया गया। इससे पहले ही ग्रामीणों ने गांव में जगह-जगह बैनर व पोस्टर लगाकर गांव की समस्याएं लिखी और अटल सेवा केन्द्र पर ताला लगा दिया। शिविर में पहुंची उपखण्ड अधिकारी गोमती शर्मा व तहसीलदार माधोराम राजपुरोहित ने अटल सेवा केन्द्र पहुंचकर ताला खुलवाया। इसके बाद ग्रामीणों ने अधिकारियों से मिलकर सरकार के सभी कार्यक्रमों का बहिष्कार करने और शिविर का भी बहिष्कार करने की घोषणा की।

कार्य प्रारम्भ होगा तो ही देंगे वोट

ग्रामीणों के साथ सरपंच समुन्द्र सिंह ने अधिकारियों को गांव की समस्याओं से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि जब तक पूल व सडक़ का निर्माण शुरू नहीं करवाया गया तो कोई भी व्यक्ति इस बार होने वाले चुनावों में मतदान नहीं करेगा। सरपंच ने बताया की मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद भी गांव में एक भी निर्माण कार्य शुरू नहीं हुआ है।

टापू बन जाएगा गांव

सरपंच ने बताया के पूल व सडक़ निर्माण की स्वीकृति काफी समय पहले मिल चुकी है। इसके बाद भी निर्माण नहीं हुआ है। ऐसे में बरसात के दिनों में गांव पिछले साल की तरफ बरसात में फिर टापू बन जाएगा। उन्होंने कहा कि इसके साथ अन्य समस्या का समाधान नहीं होने तक सरकारी योजनाओं का बहिष्कार जारी रहेगा।

नारे लगाकर जताया विरोध

ग्रामीणों ने नारे लगाकर व टायर जलाकर विरोध जताया। सरपंच के नेतृत्व में उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। ग्रामीणों का कहना था कि सरकार वादे कर भूल गई है। वह केवल सोशल मीडिया के माध्यम से विकास बता रही है।

रेलवे स्टेशन बंद

ग्रामीणों के साथ महिलाओं ने भी रोष जताया। उनका कहना था कि गांव में रेलवे स्टेशन है, लेकिन वह बंद कर दिया गया है। उसे फिर से शुरू किया जाना चाहिए।

शिविर में खाली रही कुर्सियां

राजस्व लोक अदालत न्याय आपके द्वार शिविर का बहिष्कार करने के कारण शिविर में लगाई कुर्सियां खाली पड़ी रही। कई अधिकारी पंचायत भवन के बाहर घूमते नजर आए। शिविर में शाम तक कोई कार्य नहीं हुआ।

शिविर में नहीं पहुंचे जनप्रतिनिधी

ग्रामीणों की ओर से शिविर का बहिष्कार करने के कारण कोई जनप्रतिनिधी भी नहीं पहुंचे। जो जनप्रतिनिधी पहुंचे वे अटल सेवा केन्द्र बाहर ही बैठे रहे।

विधायक ने लिया है गोद

बांता गांव को विधायक ने गोद ले रखा है। ग्रामीणों के विरोध करने के बावजूद वे भी गांव नहीं पहुंचे। ग्रामीणों का कहना है विधायक गांव का दौरा तो करते है, लेकिन समस्याओं का समाधान करने का उनके पास समय नहीं है।

टैंडर निकाल दिए

बांता से पांचेटिया डामरीकरण सडक़ के टैंडर निकाल दिए है। ठेकेदार को 14 जून तक का समय दिया गया है। उसकी प्रक्रिया पूरी होते ही निर्माण शुरू करवा दिया जाएगा। ऐसा नहीं होने पर दूसरे ठेकेदार को कार्य दिया जाएगा।

लछाराम वागेलिया, एक्सइएन, पीडब्ल्यूडी

समस्या से अवगत कराया

ग्रामीणों की समस्या का पता लगा है। इस बारे में मैंने उच्च अधिकारियों को अगवत करवाया है। उन्होंने जल्द से जल्द समस्या का समाधान करने को कहा है।

गोमती शर्मा, उपखण्ड अधिकारी, मारवाड़ जंक्शन

जनता को कर रहे गुमराह

सरकार चुनाव के समय शिविर लगा रही है। हमारी समस्या का समाधान नहीं हुआ है। सबका साथ सबका विकास के नारों से जनता को गुमराह करने की कोशिश की जा रही है। समस्या हल नहीं हुई तो चुनाव का बहिष्कार किया जाएगा।

बालू चौहान, ग्रामीण

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned