राहत शिविर में महिला को हुई प्रसव पीड़ा, अस्पताल ले जाकर कराया प्रसव

- पाली शहर के निकटवर्ती हेमावास गांव के राहत शिविर का मामला

By: Suresh Hemnani

Updated: 23 Apr 2020, 02:06 PM IST

पाली। लॉक डाउन [ Lockdown ] के चलते पाली शहर के निकटवर्ती हेमावास गांव में संचालित राहत शिविर [ Corona Relief Camp ] में एक महिला को प्रसव पीड़ा [ pain during pregnancy ] होने लगी। पीडि़त महिला को 108 एम्बुलेंस की सहायता से बांगड़ अस्पताल [ Bangar Hospital ] पहुंचा गया। जहां पर महिला ने प्रसव के दौरान पुत्र को जन्म दिया।

कोरोना संक्रमण के चलते हेमावास गांव में राहत शिविर चल रहा है। इस राहत शिविर में मध्यप्रदेश व पश्चिम बंगाल के करीब 56 मजदूर पिछले एक माह से रुके हुए है। शिविर में मध्यप्रदेश के शिवपुरा निवासी रूपवती पत्नी अशोक जो दिहाड़ी मजदूर [ Daily wage worker ] के लिए जैसलमेर से आए हुए थे। जिन्हें जैसलमेर से अपने गांव को जाने के दौरान लॉकडाउन की घोषणा होने पर प्रशासन द्वारा उन्हें हेमावास गांव में संचालित राहत शिविर में रोका गया। इस दौरान रूपवती को रात के समय में प्रसव पीड़ा होने लगी।

जिस पर शिविर की व्यवस्था संभाल रहे पटवारी मूसे खां, कनिष्ठ सहायक भागीरथ व एएनएम फरजाना ने सहायक विकास अधिकारी मनोज भाटी से सम्पर्क किया। इसके बाद 108 एम्बुलेंस को हेमावास के राहत शिविर में बुलाकर सदर थाने में कार्यरत कांस्टेबल गीता गुर्जर के साथ बांगड़ अस्पताल के लिए रवाना किया गया। जहां पर देर रात को रूपवती ने स्वस्थ पुत्र को जन्म दिया। मां व पुत्र दोनों स्वस्थ्य है।

Corona virus
Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned