दस दिन से श्रमिक कुएं में दफन, जिंदा रहने की आस टूटी, आखिर दर्शन भी नहीं हो रहा नसीब

- कानपुरा कुआं हादसा, प्रशासन अभी नए सिरे से रेस्क्यू के प्लान नहीं बना पाया
- पत्नी व चार बच्चों की नींद उड़ी, शुरू नहीं हो पाया रेस्क्यू

By: Suresh Hemnani

Published: 08 Oct 2020, 01:01 AM IST

पाली/सुमेरपुर। जिले के सुमेरपुर उपखण्ड क्षेत्र के कानपुरा गांव में कृषि कुएं में फंसे श्रमिक जोगपुरा निवासी मुफाराम (45) पुत्र केसाराम मीणा पिछले दस दिनों से कुएं में दफन है, जिंदा रहने की आस खत्म हो चुकी है, परिवार में उसकी पत्नी व चार बच्चे अब घर के मुखिया के आखिर दर्शन करना चाहते है, लेकिन वह भी नसीब नहीं हो रहा है। प्रभारी मंत्री सालेह मोहम्मद की फटकार के बाद कलक्टर अंशदीप व एसपी राहुल कोटोकी ने मौका देख नए सिरे से रेस्क्यू चलाने की योजना तो बना ली, लेकिन बुधवार को भी रेस्क्यू शुरू नहीं हो सका। परिवार बेहाल है, दस दिन से चेन-सुख भूल चुके हैं, अब परिवार इसी आस में बैठा है कि कैसे भी कर रेस्क्यू शुरू हो जाए।

प्रशासन की नींद उड़े तो मिले मुफाराम
जोगापुरा निवासी मुफाराम 27 सितम्बर को कानपुरा गांव में कुएं पर काम करते समय कुएं में गिर गया था। प्रशासन ने तीन दिन तक रेस्क्यू चलाया था, लेकिन श्रमिक नहीं मिला, इसके बाद रेस्क्यू रोक दिया गया और प्रशासन ने हार मान ली। गत दिनों जिला स्तरीय जनसुनवाई के दौरान प्रभारी मंत्री सालेह मोहम्मद को मामले की जानकारी मिलने पर अधिकारियों को फटकार लगाई थी। इसके बाद तकनीकी विभागों से संबंधित चार अधिकारियों की टीम गठित की थी।

टीम ने मौका देख नए सिरे से रेस्क्यू शुरू करने की रिपोर्ट तैयार की, लेकिन रेस्क्यू शुरू नहीं हो पाया, अभी उपखण्ड अधिकारी सुमेरपुर व जिला प्रशासन यह कहने की स्थिति में नहीं है कि रेस्क्यू शुरू कब होगा। इधर, श्रमिक मुफाराम के परिवार का बुरा हाल है। पत्नी जमना देवी, 23 वर्षीय पुत्र प्रवीण, 19 वर्षीय पुत्र प्रकाश, कैलाश व मनोहर इसी आस में बैठे है कि रेस्क्यू कब शुरू होगा। मजदूरी कर घर के लोग पेट पालते हैं, बच्चें अपनी मां को दिलासा दिला रहे हैं, फिलहाल प्रशासन गंभीर होगा तो यह रेस्क्यू शुरू होगा।

प्रशासन ने सिर्फ आश्वासन दिया
अधिकारियों ने मौका देखा, सिर्फ आश्वासन दिया है, दो दिन और इंतजार कर लेंगे, फिर भी रेस्क्यू शुरू नहीं हुआ तो जिला मुख्यालय पर अधिकारियों से फिर से शिकायत करेंगे। - जमना देवी, श्रमिक मुफाराम की पत्नी।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned