भगवान का पूजन कर झूला झुलाया

श्रद्धा व उल्लास से मनाया राम जन्मोत्सव

चैत्र नवरात्र के 9वें दिन माता सिद्धिदात्री का किया पूजन

By: Rajeev

Updated: 21 Apr 2021, 07:08 PM IST

पाली. रामनवमी पर भगवान राम-सीता के मंदिरों में जयकारा गूंजा। घंटे-घडिय़ाल बजे और भगवान के जन्म की खुशी में झांकियां सजाई गई। वहीं दूसरी तरह चैत्र नवरात्र के नवें दिन आराधकों ने माता अम्बे के दरबार में शीश नवाकर माता के नवें रूप सिद्धिदात्री का पूजन किया। माता की नौ दिन तक व्रत व उपवास रखकर आराधना करने वालों ने माता का स्वरूप मानकर नौ कन्याओं के चरण धोए। उनके भाल पर तिलक लगाकर भोजन कराया। इसके बाद उनको दक्षिणा व वस्त्र आदि भेंट कर आशीर्वाद लिया।

कोरोना काळ के कारण इस बार राम जन्मोत्सव पर शोभायात्रा का आयोजन नहीं किया गया। मंदिरों में भी बड़े आयोजन नहीं हुए, लेकिन श्रद्धालुओं के उत्साह में कोई कमी नहीं आई। प्रभु राम के भक्तों ने घरों में ही भगवान राम की झांकियां सजाई। भगवान के जन्म की खुशी में शाम को घरों की मुंडेरों पद दीप जलाए। प्रभु की अगवानी के लिए घरों में रंगोलियों सजाई व मांडणे मांडे। कई लोगों ने नौ निहालों को भगवान राम की तरह सजाकर पूजन किया।
श्रद्धालुओं को नहीं मिला प्रवेश

पानी दरवाजा स्थित रघुनाथ मंदिर में भगवान राम का पुजारी व उनके परिजनों ने विधि-विधान से पूजन किया। श्रद्धालुओं को प्रवेश नहीं दिया गया। मंदिर में भगवान को पालने में झुलाया गया। विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल पाली विभाग की ओर से राम जन्मोत्सव मनाया गया। जिला मीडिया प्रमुख मनीष सैन ने बताया कि विश्व हिंदू परिषद कार्यलय में रामदरबार की पूजा अर्चना की गई। पानी दरवाजा स्थित रघुनाथ मंदिर में पूजन किया गया। इस मौके प्रांत संयोजक किशन प्रजापत, नरेंद्र माछर, जिला मंत्री रामसुख पायक, जिलाध्यक्ष विजयराज सोनी, जिला संयोजक अनिल चौहान, शोभायात्रा अध्यक्ष गणेशराम कुमावत आदि मौजूद रहे।

Rajeev Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned