मीरपुर यूनिवर्सिटी द्वार पर हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर की गिरफ्तारी, कांग्रेस का लाठीचार्ज का आरोप

मीरपुर यूनिवर्सिटी द्वार पर हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर की गिरफ्तारी, कांग्रेस का लाठीचार्ज का आरोप
ashok tanwar file photo

| Publish: Aug, 02 2018 06:55:36 PM (IST) Chandigarh, India

तंवर ने यूनिवर्सिटी के द्वार पर अपने संबोधन में कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि भाजपा सरकार शिक्षण संस्थाओं पर इतनी हावी हो गई है कि इन संस्थाओं की स्वायत्तता पर प्रश्नचिन्ह लग गया है

(राजेन्‍द्र सिंह जादोन की रिपोर्ट)
चंडीगढ़। हरियाणा में छात्रसंघ चुनाव तो आगामी सितम्बर माह के अंत या अक्टूबर के पहले सप्ताह में संभावित हैं लेकिन छात्रो के बीच राजनीति पहले ही शुरू हो गई। रेवाडी जिले के मीरपुर स्थित इंदिरा गांधी यूनिवर्सिटी के प्रवेशद्वार पर गुरूवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डा अशोक तंवर को कुछ छात्रों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया। बाद में सदर थाने ले जाकर उन्हें रिहा किया गया।

 

तंवर और छात्रों पर लाठीचार्ज का दावा


प्रदेश कांग्रेस की ओर से दावा किया गया कि तंवर और छात्रों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। तंवर ने यूनिवर्सिटी के द्वार पर अपने संबोधन में कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि भाजपा सरकार शिक्षण संस्थाओं पर इतनी हावी हो गई है कि इन संस्थाओं की स्वायत्तता पर प्रश्नचिन्ह लग गया है। देश और प्रदेश की भाजपा सरकारें शिक्षण संस्थाओं का भगवाकरण करके इन संस्थाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही हैं परंतु कांग्रेस का एक-एक कार्यकत्र्ता कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जी के नेतृत्व में भाजपा सरकार के इन मंसूबों को पूरे नहीं होने देगा।

 

युवा मंत्रणा’ कार्यक्रम में भाग लेने आए


उन्होंने कहा कि लगभग दो सप्ताह पहले कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई, टीचिंग, नॉन टीचिंग स्टाफ एवं छात्रों ने विश्वविद्यालय प्रांगण में ‘युवा मंत्रणा’ कार्यक्रम में भाग लेने के लिए उन्हें आमंत्रित किया था। उन्होंने इसे स्वीकर कर लिया था और उसी कार्यक्रम में भाग लेने यूनिवर्सिटी पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि वह इंदिरा गांधी विश्वविद्यालय में राजनैतिक उद्देश्य से नहीं बल्कि छात्रों की समस्याओं और भविष्य की योजनाओं पर बातचीत करने गए थे और यह
उनका संवैधानिक अधिकार भी है।

 

अलोकतांत्रिक तरीके से गिरफ्तार करने का आरोप


डॉ. तंवर ने कहा कि वैसे तो भाजपा सरकार यह दावा कर रही है कि वो दो दशकों बाद छात्रसंघ के चुनाव कराने जा रही है लेकिन दूसरी ओर विश्वविद्यालय में छात्रों के नेता को प्रवेश करने देना तो दूर उन पर लाठियां भांजी गई और अलोकतांत्रिक तरीके से गिरफ्तार किया गया। उन्होंने कहा कि हम भाजपा के ओछे हथकंडों और द्वेष की राजनीति का डटकर विरोध करेंगे और शिक्षण संस्थाओं के साथ जो खिलवाड़ किया जा रहा है उसके खिलाफ आवाज उठाते रहेंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned